दिल्ली थैलियम केस: सास-साली के बाद अब पत्नी की मौत

 

नई दिल्ली।  पश्चिमी जिले के इंद्रपुरी के चर्चित थैलियम कांड में आरोपित की पत्नी की भी मौत हो गई, वो काफी समय से कोमा में थी। इस कांड में आरोपित की सास और साली की पहले ही मौत हो चुकी है। डीसीपी प्रशांत गौतम ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि बीती रात दिव्या ने भी दम तोड़ दिया।

पुलिस के अनुसार, इंद्रपुरी में दामाद ने पत्नी द्वारा गर्भपात करने का बदला लेने के लिये ससुराल के पूरे परिवार को मछली में थैलियम जहर मिलाकर खिला दिया था। इस मामले में आरोपित की पत्नी दिव्या का गंगाराम में इलाज चल रहा था, जो काफी समय से कोमा में थी, अब उसकी भी मौत हो चुकी है। घटना में दिव्या की मां और बहन की मौत पहले ही हो चुकी थी। आरोपित के ससुर ने भी मछली खाई थी, लेकिन वे ठीक हैं।

दिव्या के बच्चे की कस्टडी चाहते हैं नाना

मृतक दिव्या के दो बच्चे हैं, जो अभी अपने दादा-दादी के पास हैं लेकिन उसके नाना चाहते हैं कि बच्चों की कस्टडी उन्हें मिल जाये। उन्हें डर है कि उस घर में बच्चों को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए वे कानूनी मदद ले रहे हैं। 

ऐसे दिया था वारदात को अंजाम 

पत्नी के गर्भपात करवाने से नाराज व्यक्ति ने पत्नी समेत उसके परिवार के चार सदस्यों को थैलियम जहर दे दिया। आरोपित पति की पहचान ग्रेटर कैलाश पार्ट-1 निवासी वरुण अरोड़ा  के रूप में हुई। पुलिस ने आरोपित के घर से छोटी कांच की बोतल में मौजूद थैलियम पदार्थ भी बरामद किया था।

पुलिस के अनुसार, पिछले वर्ष आरोपित वरुण अरोड़ा की पत्नी ने गर्भपात करवाया था। वरुण यह मानता था कि उसकी पत्नी द्वारा जन्म दिये जाने वाला बच्चा उसके पिता के रूप में आयेगा। उस बच्चे के द्वारा उसके पिता जन्म लेंगे, लेकिन पत्नी के गर्भपात करवाने पर वह पत्नी से नाराज हो गया। इससे लेकर पत्नी से उसका झगड़ा भी हुआ। झगड़ा इतना बड़ा कि पत्नी अपने दो बच्चों को लेकर इंन्द्रपुरी अपने पिता के घर आ गई। जनवरी के अंतिम दिनों में आरोपित अपनी ससुराल आया और पत्नी समेत सभी को पार्टी देने की बात कहकर सभी को मछली में थैलियम मिलाकर दे दिया। उसने अपने दोनों बच्चों को खाने नहीं दिया और खुद भी दांतों में दर्द की बात कहकर नहीं खाया। मछली आरोपित के ससुर देवेंद्र मोहन शर्मा, सास अनिता देवी, साली प्रियंका, पत्नी दिव्या और नौकरानी ने खाया। 

पहली मौत 15 फरवरी को हुई 

पुलिस के अनुसार, सभी को खाना खिलाकर आरोपित अपने घर चला गया। इधर खाना खाने के कुछ देर बाद साली प्रियंका की तबीयत खराब हुई। परिवार ने उसे प्राइवेट गंगा राम अस्पताल में भर्ती कराया। कुछ दिन उपचार के बाद 15 फरवरी 2021 को प्रियंका ने दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद अचानक सभी लोगों की तबीयत खराब हो गई। सभी लोगों को उक्त अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

22 मार्च को पुलिस को दी गई सूचना 

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, पहली मौत के बाद सभी लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसी बीच 22 मार्च को आरोपित वरुण की सास अनिता की भी मौत हो गई। उन्हें अस्पताल द्वारा सूचना मिली। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पूछताछ के दौरान डॉक्टरों ने पुलिस को बताया कि सास अनिता के खून व माल-मूत्र की जांच की गई, जिसमें थैलियम जहर के पदार्थ मिले है। उसके बाद डॉक्टरों ने बताया कि इसी परिवार के दो अन्य लोगों के शरीर में भी इसी तरह का जहर है।

  

क्या है थैलियम ? 

पुलिस का कहना है कि थैलियम ऐसा स्लो पॉइजन है, जो धीरे-धीरे जिंदगी लेता है। इससे इंसान के बाल उड़ने लगते हैं और शरीर में अन्य तरह की परेशानियां पैदा होने लगती हैं। अंत में उसकी मौत हो जाती है।  

From around the web