अनमोल वचन

 
न
एक छात्र के लिए नौकरी और अधिक धन की प्राप्ति, एक किसान के लिए पर्याप्त उपज और उपज का सही दाम मिलना, व्यापारी के लिए अपने व्यापार की प्रगति और उससे प्राप्त होने वाला पर्याप्त मुनाफा, भले ही सबके लिए सफलता का तात्पर्य अलग-अलग हो, किन्तु सफलता तक पहुंचने के लिए एक मात्र विकल्प है, कड़ी मेहनत, दूर दृष्टि, पक्का इरादा, अनुशासन और धैर्य। आज के युग में अभाव तो इन सभी चीजों का रहता है, किन्तु सबसे अधिक अभाव धैर्य का है। त्वरित परिणाम की चाह में हम बहुधा बेकाबू होकर गलत राह पकड़ कर सफलता के निकट होने के बावजूद उससे दूर हो जाते हैं। एक समय ऐसा भी आने लगता है, जब हम किंकर्तव्यविमुढ की दशा में पहुंच जाते हैं। फिर जीवन में तनाव तथा आक्रोश का अनायास ही प्रवेश हो जाता है। कहा भी गया है कि भाग्य से ज्यादा और समय से पहले किसी को कुछ नहीं मिला और न कुछ मिलेगा, किन्तु यदि परिश्रम नहीं किया गया तो वह भी नहीं मिलेगा। जीवन में कर्म ही व्यक्ति की समस्त इच्छाओं की पूर्ति का एकमेव माध्यम है। इसलिए लक्ष्य तय करके उसे पाने के लिए धैर्य के साथ निरन्तर प्रयास करें।

From around the web