अनमोल वचन

 
न
आज सेना दिवस पर  वीर सैनिकों की बलिदान भावना का आदर करते हुए उन्हें तथा उनके परिवारों को उचित सम्मान दें। सैनिक सीमा पर है और हम समाज में रहते हैं, यहां रहते उनके परिवारों के साथ उनके दुख-सुख में सदा आत्मीय रहे, क्योंकि हमारे सैनिक सदैव हमारे राष्ट्रहित तथा हम सबके जीवन हित हेतु अपने प्राणों की परवाह नहीं करते। हमें अपने सैनिकों के बलिदान की अवहेलना कर उनके बलिदान का निरादर नहीं करना है। हर शहीद को सम्मान मिले, उसके बाद शहीद के परिवार की राष्ट्र की संयुक्त जिम्मेदारी है। उनकी शहादत को देश श्रद्धापूर्वक याद रखें। उन सैनिकों को देश का गौरव समझे, जिनके सहारे हम अपना जीवन सुरक्षित सुचारू रूप से चला रहे हैं उन्हें देश का गौरव समझे। यह हमारा राष्ट्रीय सामाजिक उत्तरदायित्व है कि शहीद के सैनिकों के परिवार को हम सामाजिक, आर्थिक सुरक्षा दें। हम सभी में एकजुटता की भावना के साथ राष्ट्रहित की भावना प्रबल रहे। हमारी प्राथमिकता निजी स्वार्थ न होकर राष्ट्र हित हो, इस भावना को रखने का उत्तरदायित्व केवल हमारी सेना का ही नहीं हैं, क्योंकि यह देश हम सबका है।

From around the web