साउथ फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर अभिनेता-निर्माता रमेश बाबू का निधन

 
ा

साउथ सुपरस्टार महेश बाबू पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। दरअसल हाल ही में कोरोना संक्रमित हुए अभिनेता महेश बाबू के बड़े भाई और साउथ फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर अभिनेता-निर्माता रमेश बाबू का शनिवार देर रात निधन हो गया। वे 56 साल के थे और लंबे समय से लीवर की बीमारी से जूझ रहे थे।

रमेश बाबू साउथ फिल्म इंडस्ट्री का जाना माना चेहरा थे। रमेश बाबू ने 1974 में 'अल्लूरी सीतारामाराजू' से फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा था। इस फिल्म के बाद रमेश बाबू ने 'ना इले ना स्वर्गम', 'अन्ना चेलेलु', 'चिन्नी कृष्णुडु', 'पच्चा थोरानम', 'मुग्गुरु कोडुकुलु', 'सम्राट', 'कृष्ण गरी अब्बायी', 'बाजार राउडी', 'कलियुग कर्णुडु', 'ब्लैक टाइगर' आदि फिल्मों में काम किया था।

रमेश बाबू के निधन से साउथ फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ गई है। सोशल मीडिया के जरिये रमेश बाबू के तमाम चाहने वाले उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। दिग्गज अभिनेता चिरंजीवी ने ट्वीट कर लिखा, "श्री कृष्ण गरु, महेश बाबू और परिवार के सभी सदस्यों के प्रति मेरी गहरी संवेदना। ईश्वर परिवार को इस दुखद क्षति से निपटने की शक्ति प्रदान करें।"

साई धर्म तेज ने लिखा, "रमेश बाबू के असामयिक निधन के बारे में जानकर दुख हुआ।'

निर्देशक रमेश वर्मा ने ट्वीट कर लिखा, "ये जानकर शॉक्ड हूं, रमेश बाबू गरु अब हमारे बीच नहीं रहे। कृष्णा गरु, महेश बाबू गरु और पूरे परिवार के प्रति मेरी संवेदना है। ओम शांति।"

फिल्म मेकर बीए राजू ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर रमेश बाबू के निधन पर शोक जताया और घट्टामनेनी परिवार की तरफ से लिखा है, "काफी दुख के साथ यह कहना पड़ रहा है कि हमारे अपने प्यारे रमेश बाबू गरु का निधन हो गया है। वह हमेशा हमारे दिलों में जिंदा रहेंगे। हम अपने सभी शुभचिंतकों से अनुरोध करते हैं कि कोरोना गाइडलाइंस का पालन करें और श्मशान स्थल पर इकट्ठा होने से बचें-घट्टामनेनी परिवार।"

इन सब के अलावा साउथ फिल्म इंडस्ट्री की तमाम हस्तियां सोशल मीडिया के जरिये रमेश बाबू को श्रद्धांजलि दे रही हैं।

From around the web