जिले में लंबे समय से जमे 30 इंस्पेक्टरों का गैर जनपदों में तबादला, गाजियाबाद व मेरठ भेजे गए थानेदार 

 
1

बुलंदशहर। जिले में पिछले काफी समय से जमे मठाधीश इंस्पेक्टरों का गैर जनपदों में तबादला कर दिया गया। तबादला हुए इंस्पेक्टरों की संख्या 30 है। इनमें कई थानेदार शामिल हैं। जिनका ट्रांसफर किया गया है। बताया जा रहा है कि ये लंबे समय से इस जिले में तैनात थे। इस कारण इनका तबादला किया गया है। इसमें से सर्वाधिक गाजियाबाद व मेरठ में स्‍थानातरंण हुआ है। हापुड़ में सबसे कम इंस्‍पेक्‍टरों को भेजा गया है। जानकारी के अनुसार शासन के आदेश के बाद इन इंस्‍पेक्‍टरों का ट्रांसफर किया गया है।

विधानसभा के मद्देनजर बड़े पैमाने पर थानेदारों समेत इंस्‍पेक्‍टरों का ट्रांसफर किया जा रहा है। इसी क्रम में बुलंदशहर के भी 30 इंस्‍पेक्‍टरों का तबादला किया गया है। जिसमें गाजियाबाद में सर्वाधिक 14 व मेरठ में 11 इंस्‍पेक्‍टरों को भेजा गया है। बागपत से 10 और हापुड़ में पांच का ट्रांसफर किया गया है। गाजियाबाद स्थानांतरण होने वालों में अल्ताफ अंसारी, वीरेन्द्र शर्मा, योगेन्द्र सिंह, नरेश शर्मा, राजेश रूहेला, जितेन्द्र तिवारी, जयवीर सिंह, अवधेश कुमार त्रिपाठी, वेदराम, रमाकांत यादव, योगेन्द्र मलिक, दीक्षित त्यागी, राजेश यादव और सचिन कुमार मेरठ स्थानांतरण होने वालों में आनंद गौतम, अखिलेश गौड़, महेश राठौर, सत्येन्द्र कुमार, बृज किशोर, दिनेश चंद शर्मा, नरेन्द्र शर्मा, विवेक शर्मा, जितेन्द्र सिंह, कटार सिंह और रामवीर सिंह हापुड़ स्थानांतरण होने वालों में राज किशोर, योगेन्द्र कुमार, वचन सिंह, घनेन्द्र यादव और धुर्व भूषण दुबे शामिल हैं। इसके साथ ही बागपत में अंजू सिंह, भूपेंद्र सिंह, देवेश कुमार शर्मा, इंद्रपाल सिंह, जनक सिंह, किरनपाल सिंह, मुकेश कुमार, प्रदीप ढोडियाल, सत्यवीर सिंह, तपेश्वर सागर शामिल है।

बता दें कि शासन ने पूर्व में यह आदेश जारी किया था‍ कि जिन इंस्‍पेक्‍टरों के तीन साल एक ही जनपद में पूरे हो चुके हैं या 31 मार्च 2022 तक इनका तीन साल पूरा हो चुका है, उनका तबादला किया जाएगा। जिसके बाद जिले में 30 इंस्‍पेक्‍टरों को तबादला किया जा रहा है। इनमें से कई थानेदार भी शामिल हैं।

From around the web