तीन कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों का ऐलान अगला पड़ाव यूपी, भाजपा को सिखाएंगे सबक 

 
1
नई दिल्ली। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर फिर से धरना शुरू कर दिया है। किसानों ने ऐलान किया है कि उनका अगला पड़ाव उप्र है। जहां वे भाजपा को सबक सिखाएंगे। प्रदर्शनकारी किसान एक बार फिर से कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग के साथ उत्तर प्रदेश में व्यापक विरोध प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं। बता दें कि अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं।
भाकियू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि 'हमारा अगला पड़ाव उत्तर प्रदेश है, जो बीजेपी का गढ़ है। हम बीजेपी को पूरी तरह अलग-थलग कर देंगे।' उन्होंने कहा, 'हम बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन कृषि कानूनों को वापस लेने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है।' बता दें कि किसानों ने अभी तक सरकार से 11 दौर की वार्ताएं की हैं लेकिन कोई हल नहीं निका। हालांकि, अब लंबे समय से यह वार्ता रुकी हुई है। सैकड़ों की संख्या में किसान दिल्ली के सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डरों पर बीते साल नवंबर से ही तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। किसान इन तीनों कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं।
आंदोलनकारी किसानों ने आज से दिल्ली के जंतर-मंतर पर भी प्रदर्शन का ऐलान किया है। आज से हर रोज 200 किसान जंतर-मंतर पर धरना प्रदर्शन करेंगे। किसानों ने ऐलान किया है कि यह धरना संसद की कार्यवाही की तर्ज भी चलेगा। जिसमें रोज स्पीकर और डिप्टी स्पीकर चुने जाएंगे और बिलों पर चर्चा होगी।

From around the web