बुल्ली बाई ऐप मामले में एक और आरोपित मध्य प्रदेश से गिरफ्तार

 
8

नई दिल्ली। बुल्ली बाई ऐप मामले में गिरफ्तार किए गए नीरज बिश्नोई से मिली जानकारी पर पुलिस को सुल्ली डील ऐप मामले में भी बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। इस ऐप को बनाने वाले युवक को स्पेशल सेल ने मध्य प्रदेश से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित की पहचान ओंकारेश्वर ठाकुर के रूप में की गई है। वह इंदौर के रहने वाला है।

डीसीपी केपीएस मल्होत्रा के अनुसार, ओंकारेश्वर ने ट्रेड महासभा नामक ट्विटर का ग्रुप जनवरी 2020 में @gangescion ट्विटर हैंडल से जॉइन किया था। ग्रुप में इस बात पर चर्चा हुई थी कि मुस्लिम महिलाओं को ट्रोल करना चाहिए। उसने गिटहब पर यह ऐप बनाया था। सुल्ली डील को लेकर जब हंगामा होने लगा तो उसने अपने सोशल मीडिया के सभी फुटप्रिंट डिलीट कर दिए थे। पुलिस टेक्निकल एवं फॉरेंसिक जांच के जरिये इससे संबंधित साक्ष्य तलाशने का प्रयास कर रही है।

डीसीपी केपीएस मल्होत्रा के अनुसार, बुल्ली बाई ऐप मामले में गिरफ्तार किया गया नीरज बिश्नोई सुल्ली डील ऐप मामले में भी आरोपी से जुड़ा हुआ था। इस बात की पुष्टि उसके खिलाफ किशनगढ़ थाने में केस दर्ज हुआ थी। उसने एक युवती की तस्वीर लगा कर उस पर बोली लगाने का ट्वीट किया था। इसे लेकर पुलिस ने जब आगे छानबीन की तो पता चला कि सुल्ली डील ऐप बनाने वाले के भी वह संपर्क में रहा है। इस जानकारी पर पुलिस टीम ने मध्यप्रदेश में छापा मारकर वहां से ओम्कारेश्वर ठाकुर को गिरफ्तार किया है। 25 वर्षीय ओमकारेश्वर ने इंदौर स्थित आईपीएस एकेडमी से बीसीए किया हुआ है।

शुरुआती पूछताछ के दौरान उसने यह कबूल किया है कि वह ट्विटर पर ट्रेड ग्रुप का सदस्य है और मुस्लिम महिलाओं को ट्रोल करने एवं बदनाम करने के मकसद से उसने यह ऐप बनाई थी। उसने गिटहब पर यह कोड बनाया। इसका एक्सेस ग्रुप के सभी सदस्यों को दिया गया था। उसने इस ऐप को अपने ट्विटर अकाउंट पर भी साझा किया था। इसमें ग्रुप के सदस्यों ने मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर डाली थी और उन पर बोली लगवाने का प्रयास किया था।

From around the web