अरविंद केजरीवाल प्रभु श्रीराम के आदर्शों से प्रेरणा लेकर चला रहे हैं सरकार - मनीष सिसोदिया

 
1

अयोध्या। आम आदमी पार्टी द्वारा मंगलवार को रामनगरी अयोध्या में तिरंगा संकल्प यात्रा निकाली गयी। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, राजसभा संसद संजय सिंह व प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह की अगुवाई में आम आदमी पार्टी की यह तिरंगा संकल्प यात्रा निकाली गई।

गुलाबबाड़ी से गांधी पार्क के लिए मंगलवार को निकली आम आदमी पार्टी की तिरंगा संकल्प यात्रा में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ’राम राज्य’ की प्रतिष्ठा का संकल्प दिलाया, तो प्रभु श्रीराम के नाम पर राजनीति करने वाली भाजपा को भी जमकर रगड़ा। कहा-पूरे देश में अरविंद केजरीवाल एकमात्र मुख्यमंत्री हैं, जो प्रभु श्रीराम के आदर्शों से प्रेरणा लेकर सरकार चला रहे हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, महिला सुरक्षा, कानून व्यवस्था सहित किसानों के मुद्दे पर योगी सरकार को आईना दिखाते हुए सिसोदिया बोले-यूपी में आप की सरकार बनी तो दिल्ली की तरह श्रीराम के आदर्शों का अनुसरण करते हुए अच्छी शिक्षा, बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था, रोजगार, महिलाओं की सुरक्षा, कानून व्यवस्था जैसे मुद्दों पर काम होगा।

संतो से मिले विजई भव के आशीर्वाद का उल्लेख करते हुए कहा कि राम सबके हैं, मगर उनके नाम पर राजनीति करने वाली भाजपा के मुंह में राम बगल में छुरी है जबकि हमारे मुंह और दिल में राम तो हाथ में संविधान है।

पार्टी के प्रदेश प्रभारी संजय सिंह के नेतृत्व में निकली तिरंगा यात्रा को संबोधित करते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा कि भाजपा ने वादा किया था कि सरकार बनाते ही गुंडाराज, भ्रष्टाचार खत्म करेंगे, रोजगार देंगे, फसल का दोगुना दाम देंगे, महिलाओं की सुरक्षा के लिए कानून व्यवस्था दुरुस्त करेंगे लेकिन साढ़े चार साल बीतने के बाद जनता ठगा महसूस कर रही है। कहा, भाजपा देश भर के श्रद्धालुओं द्वारा राम मंदिर के नाम पर दिया चंदा खा गई। भाजपाई ना आम के हैं ना राम के हैं। हम इन्हीं मुद्दों पर भाजपा से सवाल करने के लिए तिरंगा लेकर निकले हैं। आगरा और नोएडा के बाद हम प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या में तिरंगे के नीचे उनके आदर्शों के अनुरूप राम राज्य की प्रतिष्ठा के लिए आम आदमी को अच्छे स्कूल, बेहतर अस्पताल, रोजगार और सुरक्षा देने वाली राजनीति का संकल्प लेने आए हैं। दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल इसी संकल्प के साथ आम आदमी की जरूरत की राजनीति कर रहे हैं। वह देश के एकमात्र ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो प्रभु श्रीराम के आदर्शों का अनुसरण करते हुए आम आदमी की जरूरत से जुड़े मुद्दों पर काम कर रहे हैं।

सिसोदिया ने किसानों की बदहाली और ऊपर से प्रदेश में उन पर महंगी बिजली की मार का जिक्र करते हुए दिल्ली की तरह यहां भी 300 यूनिट फ्री बिजली को लोगों का हक बताया।

From around the web