भाजपा का दावा, पार्टी ने अब तक जिला पंचायत की 918 सीट पर किया कब्जा, पश्चिमी यूपी में किसान आंदोलन से कोई असर नहीं 

 
न

लखनऊ,।   उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना रविवार को सुबह शुरू होने के बाद से अभी भी जारी है। इस बीच प्रदेश की सत्तरुढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दावा किया है कि पार्टी ने सोमवार देर रात तक जिला पंचायत सदस्यों की 918 सीट पर चुनाव जीत लिया है।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने एक बयान में कहा कि प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अब तक लगभग 45 हजार से अधिक ग्राम प्रधान व 60 हजार से अधिक क्षेत्र पंचायत सदस्य के चुनाव में पार्टी कार्यकर्ता-समर्थक विजयी हुए है। उन्होंने कहा प्रदेश में 918 सीट पर पार्टी जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीत चुकी है। 

श्री सिंह ने कहा कि अब तक मिली सूचना के अनुसार लगभग 450 से अधिक स्थानों पर जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में पार्टी प्रत्याशियों ने निर्णायक बढ़त  ले ली है।

 प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों मे उम्मीदवारों को मिली विजय व समर्थन भाजपा सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के विकास व किसानों की उन्नति के लिए उठाए गए कदमों पर मोहर है। उन्होंने पंचायत चुनाव में पार्टी को मिले जनसमर्थन के लिए जनता का आभार व्यक्त करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं को बधाई दी है। पंचायत चुनाव में निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि सभी विजयी प्रत्याशी ग्रामीण क्षेत्रों के सर्वांगीण विकास व उन्हें शासन की समस्त योजनाओं से जोड़ते हुए प्रदेश व देश के सर्वांगीण विकास की कड़ी बनेंगे। 

पार्टी सूत्रों का दावा है कि अगर सभी विपक्षी दलों की सीटों को जोड़ा जाए तो भी प्रदेश की अन्य पार्टियां बीजेपी के बराबर सीटें नहीं जीत पाई हैं। जिला पंचायत सदस्य नतीजों में समाजवादी पार्टी और बीएसपी के दिग्गज नेताओं के सगे संबंधियों को हार का सामना करना पड़ा है। सपा के कद्दावर नेता और नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी के बेटे अपनी सीट नहीं बचा पाए।
सूत्रों ने बताया कि पश्चिम उत्तर प्रदेश में भाजपा को किसान आंदोलन की मुहिम के चलते नुकसान का अंदेशा था, लेकिन यहां के चुनाव नतीजे बता रहे हैं कि भाजपा पर प्रभाव नहीं पड़ा है। लोगों ने बढ़चढ़ योगी सरकार का समर्थन किया है और गांवों में कमल को खिलाया है।
पाटी अधिकारियों की मानें तो जिला पंचायत की 3050 सीटों के लिए बीजेपी ने उम्मीदवार उतारे हैं। ऐसे में मतगणना के पहले दिन रविवार को ही भाजपा समर्थित 172 प्रत्याशी जीत दर्ज कर चुके थे। वहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा समर्थित 44 जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी जीते हैं।

From around the web