मुज़फ्फरनगर में भाजपा नेता के पिता की दिनदहाडे गला रेतकर हत्या,गौकशी की रंजिश में हत्या का आरोप 

 
न

मुजफ्फरनगर। जानसठ इलाके में बीजेपी नेता के पिता की दिनदहाड़े हुई गला रेंतकर निर्मम हत्या से इलाके में सनसनी फैल गई। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी।  बीजेपी नेता का आरोप है विशेष समुदाय के लोगों से उनका झगड़ा चल रहा था जिस मामले में पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। दरअसल मामला जानसठ कोतवाली इलाके के भलवा गांव का है। जहां उस समय सनसनी फैल गई, जब कच्ची सड़क पर बीजेपी नेता सुशील कुमार के पिता 55 वर्षीय श्याम सिंह का शव खून से लथपथ सड़क पर पड़ा मिला। घटनास्थल देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि अज्ञात हमलावरों ने पहले तो बीजेपी नेता के पिता के साथ मारपीट की और उसके बाद उनका धारदार हथियार से गला काट कर निर्मम हत्या कर दी।  दिनदहाड़े हुई हत्या की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और मामले में बारीकी से जांच शुरू कर दी। बीजेपी नेता सुशील कुमार का कहना है विशेष समुदाय के लोगों से उनका आए दिन झगड़ा होता रहता था उन्होंने थाने सहित अपने बीजेपी नेताओं को इस मामले की शिकायत की थी लेकिन विवाद के मामले में किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की।
 

प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के गांव भलवा निवासी भाजपा नेता सुशील कुमार के पिता श्याम सिंह 55 वर्षीय पुत्र खचेङ सिंह हलवाई का कार्य करते थे , दोपहर बाद ग्रामीणों द्वारा पुलिस को सूचना दी गई कि श्याम सिंह का गर्दन कटा हुआ शव गांव से जंगल जाने वाले रास्ते पर पड़ा हुआ है। सूचना के उपरांत पुलिस मौके पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। मृतक के पुत्र ने गांव की रंजिश के चलते हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को नामजद तहरीर दी है।
मृतक के पुत्र ने ग्रामीणों पर ही लगाया हत्या का आरोप:

मृतक श्याम सिंह के पुत्र ने गांव के ही रहने वाले कई लोगों पर हत्या का आरोप लगाते हुए बताया कि कुछ दिन पूर्व गांव में गोकशी हो रही थी, जिसे मृतक श्याम सिंह ने देख लिया था, उसी की रंजिश के चलते श्याम सिंह की हत्या की गई है।
पुलिस चौकी के सामने सड़क जाम कर पुलिस के खिलाफ किया प्रदर्शन:

भलवा चौकी के सामने खतौली जानसठ मार्ग पर जाम लगाते हुए ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया और पुलिस प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए। ग्रामीणों ने कहा कि उत्तर प्रदेश में रामराज नहीं बल्कि जंगलराज हैं। निर्दोष लोगों की हत्याएं हो रही हैं और पुलिस प्रशासन ढीला रवैया अपना रहा है।
एक सप्ताह पूर्व गोली मारकर की गई थी पूर्व प्रधान की हत्या:

जानसठ थाना क्षेत्र के गांव अहरोड़ा के पूर्व प्रधान मांगेराम की गोलियां मारकर 1 सप्ताह पूर्व हत्या कर दी गई थी, जिसका शव गांव के नजदीक जंगल में पड़ा मिला था, इतना ही नहीं बल्कि हत्यारों ने शव को जलाने का भी प्रयास किया था। मृतक के परिजनों ने गांव की पुरानी रंजिश मानते हुए पुलिस को तहरीर दी थी। 1 सप्ताह में 2 मर्डर होने से क्षेत्र में भय व्याप्त हैं।

From around the web