बुलंदशहर: करंट से विभिन्न स्थानों पर तीन की मौत,ग्रामीणों ने किया जमकर हंगामा

 
3
बुलंदशहर। जिले में अलग-अलग  घटनाओं में करंट से तीन लोगों की मौत हो गई। ग्रामीण क्षेत्र में करंट से हुई मौत के बाद ग्रामीणों में विद्युत विभाग के खिलाफ रोष है। पहली घटना गांव शेखुपुरा में हुई। जहां पर खेत पर पशुओं को चारा लेने गए एक किसान की करंट लगने से मौत हो गई। गांव शेखुपुरा निवासी किसान आनंद पुत्र रामभूल सुबह अपनी पत्नी व बच्चों के साथ खेत पर पशुओं को चारा लेने के लिए गया था। बिजली आती देख किसान आनंद ने नहाने के लिए ट्यूबवेल चलाने का प्रयास किया। लेकिन ट्यूबवेल के स्टार्टर में बिजली के शॉर्ट सर्किट के कारण करंट आ गया। स्टार्टर में करंट आने से आनंद काफी देर तक बिजली के शार्ट से तड़पता रहा। आनंद के बिजली के करंट की चपेट में आने से बच्चों व पत्नी ने शोर मचा दिया। शोर सुनकर पड़ोस के खेतों पर काम कर रहे लोग एकत्रित हो गए। ट्यूबवेल का तार हटाकर उसे घायल अवस्था में पीएचसी ले गए। जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। लोगों ने विद्युत विभाग पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। वहीं दूसरी घटना वैर गांव में हुई जहां पर कूलर में उतरे करंट से एक सिक्योरिटी गार्ड सतीश की मौत हो गई। 
सतीश नोएडा स्थित एक निजी कंपनी में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता था। सुबह करीब सात बजे सतीश अपना बनियान घर में लगे कूलर के ऊपर डालकर नहाने के लिए चला गया। उस समय बिजली नहीं आ रही थी। कुछ समय बाद ही बिजली आ गई। नहाने के बाद बाहर आने पर जैसे ही उसने कूलर से बनियान उठाया करंट की चपेट में आ गया। करंट लगने से वह बेहोश हो गया। परिजनों ने उसे उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। वहीं तीसरी घटना जिले के लखावटी क्षेत्र में हुई। जहां घेर में चारा काटने की मशीन में करंट उतरने से किसान रामचरण की मौके पर ही मौत हो गई। ग्रामीणों ने किसान की मौत पर हंगामा किया।

From around the web