अभियान : 15 से उर्वरक बिक्री केन्द्रों का होगा भौतिक सत्यापन, गड़बड़ी पर होगी सख्त कार्रवाई

 
3

लखनऊ । किसानों को उर्वरक की कोई कमी न हो। इसमें माफिया कुछ गड़बड़ न कर पायें। इसके लिए प्रदेश सरकार हर वक्त कई कदम उठा रही है। प्रदेश के सभी उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर आईएफएमएस पोर्टल में प्रदर्शित उर्वरकों का स्टाक एवं बफर गोदाम व बिक्री केन्द्रों पर उपलब्ध भौतिक स्टाक का शत-प्रतिशत सत्यापन होगा। यदि पोर्टल पर दर्शाए गये उर्वरक की मात्रा वहां नहीं मिली तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस बार पूरे प्रदेश में 15 से 25 सितम्बर तक अभियान चलाकर बफर गोदाम व बिक्री केन्द्रों का सत्यापन कराया जाएगा।

इस संबंध में शासन ने सभी मंडलायुक्तों, कृषि निदेशक व सभी जिलाधिकारियों को आदेश भेज दिया है। कृषि अनुभाग दो से भेजे गये पत्र में कहा गया है कि उर्वरक विक्रेताओं द्वारा पीओएस मशीन के माध्यम से की गयी उर्वरकों की बिक्री को सत्यापित करने के लिए सतत अनुश्रवण एवं प्रवर्तन आवश्यक है। इस प्रक्रिया का विचलन कर बिक्री करने वाले विक्रेताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

पत्र के माध्यम से यह भी अवगत करायो गया है कि 15 सितम्बर से 25 सितम्बर तक सभी बफर गोदामों, थोक विक्रेताओं के गोदामों एवं फुटकर उर्वरक बिक्री केन्द्रों पर उपलब्ध भौतिक स्टाक का सत्यापन कर कार्रवाई सुनिश्चित किया जाय। इसका सत्यापन के बाद शासन ने पूरी रिपोर्ट भी मांगी गयी है।

From around the web