भारत में तेजी से फैल रहा कोरोना वायरस, पिछले 24 घंटे में 1.31 लाख केस, 800 से ज्यादा मौतें

 

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस(Corona Virus) के आंकड़े बहुत तेजी से फैल रहे हैं और रोजाना सामने आने वाले आंकड़े भयावह हैं। देश में लगातार तीसरे दिन कोरोना वायरस (Corona Virus) के 1 लाख से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। जानकारी के मुताबिक गुरुवार देर रात तक कोरोना के 1,31,787 नए मामले सामने आए।
जब से देश में कोरोना महामारी की शुरुआत हुई है, तब से लेकर अबतक ये कोरोना(Corona) का सर्वाधिक मामला है। इससे पहले बुधवार को 1.26 से ज्यादा मामले सामने आए थे। वहीं मंगलवार को भी कोरोना के दैनिक मामलों की संख्या 1.15 लाख से ज्यादा दर्ज की गई थी।
देश में कोरोना के सक्रिय मामले लगातार बढ़ रहे हैं। मौजूदा समय में सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर नौ लाख से ज्यादा हो गई है। देश में कोरोना से ठीक होने की दर घटकर 91.67 फीसदी और सक्रिय मामलों की दर बढ़कर 7.04 फीसदी हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, गुरुवार को कोरोना वायरस से 802 मरीजों की मौत हुई थी।
देश में कोरोना वायरस से मरने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 1,67,694 हो गई है। देश में पिछले करीब एक महीने से सक्रिय मामलों की संख्या बढ़ रही है। अब सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 9,74,174 हो गई है।

देश में अब तक 25.26 करोड़ लोगों की जांच हुई
देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इस बीच तेजी से कोविड जांच भी की जा रही है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के मुताबिक, देश में 7 अप्रैल तक 25,26,77,379 नमूनों की कोविड जांच की जा चुकी है, जिनमें से 12,37,781 नमूनों की गुरुवार को जांच की गई है।

एम्स के 50 कर्मचारी कोरोना संक्रमित, ऑपरेशन थिएटर बंद
वहीं दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में 50 से ज्यादा कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित होने का खुलासा हुआ है। पिछले एक सप्ताह में 50 से अधिक स्वास्थ्यकर्मी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। जानकारी के अनुसार अस्पताल के मेडिसिन विभाग में कुछ डॉक्टर संक्रमित हुए हैं। वहीं सर्जरी विभाग के कई डॉक्टर भी कोरोना संक्रमित हुए हैं। डॉक्टरों के अनुसार कर्मचारियों के लगातार संक्रमित होने की वजह से ही एम्स प्रबंधन ने ऑपरेशन थिएटर बंद करने का फैसला लिया है। यहां सिर्फ इमरजेंसी मामलों में ही सर्जरी की जाएगी।

पीएम ने रात्रिकालीन कर्फ्यू के बताए मायने
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(PM Narendra Modi) ने रात्रिकालीन कर्फ्यू की वकालत करते हुए कहा कि इसे कोरोना कर्फ्यू का नाम देने से जागरूकता बढ़ेगी। पीएम ने कहा कि दुनियाभर में रात्रि कर्फ्यू को स्वीकार किया गया है। कुछ बुद्धिजीवी चर्चा करते हैं क्या कोरोना रात में आता है। हकीकत में दुनिया ने रात्रि कर्फ्यू के प्रयोग को स्वीकार किया है, क्योंकि हर व्यक्ति को कर्फ्यू टाइम में ख्याल रहता है कि मैं कोरोना काल में जी रहा हूं और बाकी जीवन की व्यवस्थाओं पर कम से कम प्रभाव होता है। अच्छा होगा, हम कर्फ्यू रात्रि 9-10 बजे से सुबह 5-6 बजे तक चलाएं ताकि बाकी व्यवस्था प्रभावित न हो।

From around the web