गृहमंत्री अमित शाह बनकर लोगो को ठग रहे थे, मंत्री-एमएलसी बनाने के नाम पर कर रहे थे उगाही, 4 गिरफ्तार 

 
न

लखनऊ- उत्तर प्रदेश की लखनऊ पुलिस ने हजरतगंज इलाके से केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह  बनकर नेताओं को विधान परिषद सदस्य एवं मंत्री बनवाने तथा विधानसभा का टिकट दिलाने के नाम पर नेताओं से लाखों की ठगी करने वाले गिरोह के चार बदमाशों को आज गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है । पुलिस उपायुक्त मध्य डॉ. ख्याति गर्ग ने बताया कि हजरतगंज पुलिस ने चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया  है।
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि हजरतगंज कोतवाली प्रभारी श्याम बाबू शुक्ला और अपराध शाखा के प्रभारी निरीक्षक धर्मेन्द्र यादव ने हजरतगंज से चार ऐसे ठगों को गिरफ्तार किया जो खुद को गृहमंत्री का पीए बनकर फोन एवं व्हाट्सएप पर स्थानीय नेताओं को दर्जा प्राप्त मंत्री बनवाने एवं विधान परिषद तथा विधानसभा में टिकट दिलाने के नाम पर ठगी करते थे, पुलिस ने ऐसे  चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है। 

पुलिस ने उत्तराखण्ड के उद्यमसिंह नगर में पंतनगर निवासी शमीम अहमद खान,सितारगंज उद्यमसिंह नगर निवासी हसनैन अली ,बरेली निवासी जाने आलम और बलिया निवासी हिमांशु सिंह को गिरफ्तार किया है । इनके दो साथी उद्यमसिंह नगर निवासी बब्लू उर्फ विजय और खुद को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह बनकर फोन पर बात करने वाला बरेली के नवाबगंज का निवासी शाहिद फरार हो गया।
उन्होंने बताया कि  ये लोग छोटे स्तर के नेताओं को मोबाइल एवं व्हाट्एप पर  खुद को मंत्री का पीए बनकर और दूसरा मंत्री बनकर बात करते थे और टोकनमनी के रुप में लाखों रुपये लेकर फरार हाे जाते थे। उन्होंने बताया कि ये लोग श्रीमती रीता सिंह को विधान परिषद सदस्य बनाने के बाद प्रदेश सरकार में मंत्री बनवाने के लिए एक करोड़ रुपये लेने का प्रयास कर रहे थे। उन्होंने बताया कि शाहिद ने  केन्द्रीय गृहमंत्री बनकर महिला से फोन पर बात की जबकि बरेली निवासी  हसनैन ने खुद को गृहमंत्री का पीए बनकर महिला से बात की थी।
प्रवक्ता ने बताया कि इसके पहले ये ठग प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का विधानसभा में टिकट दिलाने के नाम पर एक नेता से चार लाख रुपये टोकनमनी के रुप मे ठग चुके हैं। पुलिस फरार आरोपियों की गिरफ्तार का प्रयास कर रही है। इन लोगों के आपराधिक इतिहास का पता लगाया जा रहा है।

From around the web