पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह के पौत्र इंदरजीत ने थामा भाजपा का हाथ

 
1

नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति स्व. ज्ञानी जैल सिंह के पौत्र इंदरजीत सिंह ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सदस्यता ग्रहण कर ली। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी की उपस्थिति में उन्होंने भाजपा मुख्यालय में पार्टी की प्राथमिक सदस्यता ली।

भाजपा मुख्यालय में सोमवार को हरदीप सिंह पुरी और राष्ट्रीय महासचिव दुष्यंत गौतम ने इंदरजीत सिंह को प्राथमिक सदस्यता की पर्ची और अंगवस्त्र देकर पार्टी में शामिल कराया। इस दौरान पुरी ने कहा कि इंदरजीत सिंह से उनका पुराना संबंध रहा है। स्व. ज्ञानी जैल सिंह जब गृहमंत्री थे तो उन्हें उनके साथ काम करने का मौका मिला।

पुरी ने कहा कि आज इंदरजीत सिंह भाजपा में शामिल हुए हैं। उनके आने से पंजाब में भाजपा को मजबूती मिलेगी। इंदरजीत ने समाज सेवा के कई क्षेत्रों में काम किया है। उनके भाजपा के साथ आने से हमें ताकत मिलेगी और हम पंजाब में समाज सेवा में उनका सहयोग कर सकेंगे।

भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद इंदरजीत सिंह ने कहा कि लंबे समय बाद आज उनके दादा ज्ञानी जैल सिंह की इच्छा पूरी हुई। कांग्रेस ने जो सलूक उनके साथ किया, उनकी वफादारी का जो फल दिया, वह सभी लोग जानते हैं। मैं सिनेमा की दुनिया में अपना कैरियर बनाने चला गया था, जब अपना कैरियर बना ही रहा था तो उन्होंने राजनीति में अपना कैरियर बनाने की सलाह देते हुए अटल जी और लालकृष्ण आडवाणी से मिलने के लिए कहा। उन्होंने आडवाणी जी से मुलाकात कराकर उनका आशीर्वाद भी दिलाया था।

सिंह ने कहा कि वे पिछले कुछ सालों से विश्वकर्मा समाज को एकत्रित करने का काम कर रहे हैं। अब भाजपा में शामिल होने के बाद पार्टी उन्हें जो निर्देश देगी, उसका वे पालन करेंगे।

From around the web