शामली की डीएम समेत एडीएम पर लगे आरोपों की जांच शुरू, शासन ने नूतन ने माँगा शपथपत्र, अफसरों की मुसीबत बढ़ी  

 
न

लखनऊ-पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर तथा एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर द्वारा डीएम शामली जसजीत कौर के साथ एडीएम प्रशासन अरविन्द कुमार सिंह तथा तहसीलदार शामली अजय कुमार शर्मा के खिलाफ आरोपों के संबंध में प्रेषित शिकायत का शासन द्वारा संज्ञान लिया गया है, जांच शुरू कर दी गई है। शासन द्वारा जांच शुरू  देने के बाद इस मामले में अफसरों की दिक्कत बढ़ सकती है। 

इस संबंध में नियुक्ति विभाग के संयुक्त सचिव रत्नेश सिंह ने नूतन को शपथपत्र के माध्यम से अपनी शिकायत की पुष्टि करने तथा अपने आरोपों के संबंध में सुसंगत साक्ष्य देने को कहा है। 

अमिताभ तथा नूतन ने अपनी शिकायत में कहा था कि डीएम जसजीत कौर द्वारा निजी व्यक्ति दीपक बंसल तथा सरकारी ट्रेजरी से पैसे लेकर अपने निजी काम के लिए गैलेक्सी S20 अल्ट्रा मोबाइल खरीदने के आरोप हैं. इसी प्रकार उन्हें प्राप्त अभिलेखों के अनुसार एडीएम अरविन्द सिंह ने समय-समय पर श्री बंसल से तमाम सामान मंगवाए जिनमे 4 बैटरी तथा  1 इन्वेर्टर और तमाम महंगे मोबाइल शामिल हैं, इसके अलावा अरविन्द सिंह ने दीपक बंसल से 20 लाख की  स्कार्पियो ब्लैक गाड़ी संख्या यूपी-19 एल-2828 मात्र लाख रुपये में ली है। 

साथ ही उनके द्वारा दिए गए व्हाट्सएप मेसेज से एडीएम द्वारा दीपक बंसल से रु० लाख मांगने, कई बार गहने मंगवाने  आदि के तथ्य साबित होते हैं,  एक चैट में माइनिंग के पैसे का हिसाब करने की बात है तो एक में एडीएम द्वारा डीएम को पैसे देने की बात लिखी गई है। इसी प्रकार तमाम ऑडियो रिकॉर्डिंग में एडीएम तथा तहसीलदार के साथ माइनिंग के लेनदेन, परसेंटेज, हिसाब किताब आदि की बातें शामिल हैं। 

नूतन ठाकुर ने बताया कि वे शपथ पत्र के साथ ही उनके पास उपलब्ध साक्ष्य जल्द ही शासन को दे देंगे जिससे आगे जांच कराई जा सके। 

आपको बता दें कि शिकायत कर्ता दीपक बंसल शिकायत करने ने बाद अपने आरोपों से पीछे हट गया था लेकिन नूतन ठाकुर ने कहा था कि दीपक द्वारा दिए गए साक्ष्य ही जांच के लिए पर्याप्त है , शिकायत कर्ता की कोई आवश्यकता नहीं है। देखें शासन का पत्र-

 

From around the web