रेप के आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को पंचायत चुनाव में भाजपा से टिकट

 

उन्नाव के बहुचर्चित माखी कांड में दुष्कर्म तथा पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा झेल रहे कुलदीप सिंह सेंगर के प्रति भारतीय जनता पार्टी का प्रेम एक बार फिर उमड़ा है। दुष्कर्म में दोषी पाए जाने के बाद से भाजपा से निष्काषित कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सेंगर को एक बार फिर मैदान में उतारा है। बांगरमऊ से विभिन्न पार्टी से चार बार विधायक रहे सेंगर की पत्नी उन्नाव के फतेहपुर चौरासी से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ेंगी। उनको टिकट देने के फैसले का उन्नाव में भाजपा के नेता दबे स्वर में विरोध भी कर रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश ने गुरुवार को तीसरे चरण के जिला पंचायत के चुनाव के लिए प्रत्याशी का नाम घोषित किया। इस सूची में संगीता सेंगर का नाम देखने के बाद सभी हैरत में हैं। भाजपा परिवारवाद के खिलाफ काम करने वाली पार्टी मानी जाती है, ऐसे में विवादित कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को टिकट देकर विपक्ष को मौका दिया है। पार्टी ने संगीता को उन्नाव में जिला पंचायत सदस्य का प्रत्याशी बनाया है। संगीता सेंगर उन्नाव से पहले भी जिला पंचायत अध्यक्ष थीं। भाजपा ने उन्हेंं दोबारा टिकट दिया है। संगीता को उन्नाव के फतेहपुर चौरासी तृतीय से टिकट दिया गया है। उन्नाव में तीसरे चरण यानी 24 अप्रैल को चुनाव होंगे।

भाजपा ने गुरुवार को उन्नाव के जिला पंचायत के 51 वार्डों के प्रत्याशियों की सूची जारी की। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने माखी कांड में सजायाफ्ता पूर्व विधायक कुलदीप सिंह की पत्नी संगीता सेंगर को भी प्रत्याशी बनाया है। संगीता सेंगर निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष हैं और फतेहपुर चौरासी तृतीय क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य के लिए प्रत्याशी होंगी। इसके साथ पूर्व जिलाध्यक्ष आनंद अवस्थी सरोसी प्रथम व नवाबगंज के निवर्तमान ब्लाक प्रमुख अरुण सिंह औरास द्वितीय से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में होंगे।

From around the web