एयर इंडिया की 'घर वापसी' पर भावुक रतन टाटा ने कहा-'वेलकम बैक'

 
1

नई दिल्ली। आखिरकार कर्ज में डूबी एयर इंडिया की बिक्री के लिए बोली टाटा समूह ने जीत ली है। टाटा समूह की इकाई टैलेस प्राइवेट लिमिटेड ने 18 हजार करोड़ रुपये में एयर इंडिया के लिए विनिंग बिडर रही। यह सौदा इस साल दिसंबर के अंत तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। सरकार की ओर से निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहीन कांत पांडेय ने शुक्रवार को ये जानकारी दी।

एयर इंडिया की घर वापसी पर रतन टाटा ने 'वेलकम बैक, एयर इंडिया' का ट्वीट किया है। इस ट्वीट में रतन टाटा का एक नोट भी अटैच है, जिसमें लिखा गया है, 'टाटा ग्रुप का एयर इंडिया के लिए बोली जीतना बेहद अच्छी खबर है। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि एयर इंडिया को फिर से खड़ा करने के लिए मेहनत लगेगी। लेकिन उम्मीद है कि यह फैसला एविएशन इंडस्ट्री में टाटा समूह की मौजूदगी के लिए एक बड़ा बाजार अवसर उपलब्ध कराएगा।'

पुरानी प्रतिष्ठा वापस लाने की होगी कोशिश

अपने ट्वीट में रतन टाटा ने यह भी कहा कि 'एक वक्त ऐसा था, जब एयर इंडिया ने जेआरडी टाटा के नेतृत्व में 'दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित एयरलाइंस में से एक' के तौर पर ख्याति बटोरी थी। लेकिन, अब टाटा समूह के पास वह इमेज और प्रतिष्ठा फिर से बनाने का मौका होगा, जो एयर इंडिया के शुरुआती सालों में थी। अगर आप जेआरडी टाटा हमारे बीच होते तो वे बेहद खुश होते।' रतन टाटा ने अपने नोट में चुनिंदा इंडस्ट्रीज को निजी क्षेत्र के लिए खोलने की हालिया नीति के लिए सरकार को भी धन्यवाद दिया है।

स्पाइसजेट के चेयरमैन अजय सिंह ने दी बधाई

एयर इंडिया को खरीदने के लिए दूसरी सबसे ऊंची बोली लगाने वाले कंसॉर्टियम के लीडर और स्पाइसजेट के चेयरमैन अजय सिंह ने इस डील के लिए टाटा ग्रुप और सरकार दोनों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि एयर इंडिया की बिडिंग के लिए शॉर्टलिस्ट होना उनके लिए गौरव वाली बात थी। उन्होंने विश्वास जताया कि टाटा समूह कंपनी का मान-सम्मान वापस लाने में कामयाब रहेगा और भारत को गौरवान्वित करेगा।

From around the web