योगी दिल्ली पहुंचे, शाह से मिले, मोदी एवं नड्डा से भी आज होगी भेंट

 
न

नयी दिल्ली - उत्तर प्रदेश में सियासी खींचतान की खबरों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज अचानक राजधानी दिल्ली पहुंचे और भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। मुख्यमंत्री की शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से भी मुलाकात होने की संभावना है।
सूत्रों के मुताबिक भाजपा नेतृत्व के बुलावे पर योगी आदित्यनाथ दोपहर बाद राजधानी पहुंचे और इसके थोड़ी देर बाद वह 6 ए कृष्णमेनन मार्ग स्थित गृहमंत्री श्री शाह के आवास पर पहुंचे।

इस मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं के बीच उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव, मंत्रिमंडल विस्तार और संगठन समेत कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई है। योगी शुक्रवार को 10:45 बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और 12:30 बजे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आज दोपहर दिल्ली पहुंचे और उत्तर प्रदेश सदन में कुछ समय व्यतीत कर सीधे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करने उनके आवास पर गए। तकरीबन डेढ़ घंटे की बैठक में दोनों नेताओं के बीच कई विषयों पर चर्चा हुई। बताया जा रहा है कि शाह के साथ बैठक में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर चर्चा की गई। दोनों नेताओं ने वर्ष 2022 के विधानसभा में पूरे दमखम के साथ चुनाव लड़ने के लिये रणनीतिक खाका तैयार करने पर विचार-विमर्श किया। पूर्व केंद्रीय मंत्री और अपना दल प्रमुख अनुप्रिया पटेल भी इसी बीच बातचीत में शामिल हुईं। सूत्र ने बताया कि बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष के ज्यादा से ज्यादा पदों पर जीत की रणनीति पर भी चर्चा की गई है। पटेल पहली नरेंद्र मोदी सरकार में राज्य मंत्री थीं। लेकिन, उनके दूसरे कार्यकाल में पद पाने में विफल रहीं। वह मोदी कैबिनेट में अपने लिए मंत्री पद और राज्य में अपने पति आशीष पटेल के लिए मंत्री पद की मांग कर रही हैं। अपना दल एनडीए की सहयोगी पार्टी है।सूत्रों के मुताबिक, अनुप्रिया पांच जिलों के जिला पंचायत अध्यक्ष के पदों की भी मांग कर रही हैं। इनमें मिजार्पुर, जौनपुर, प्रतापगढ़, बांदा और फरुर्खाबाद शामिल हैं। योगी आदित्यनाथ के जाने के बाद शाह ने पटेल के साथ अलग बैठक भी की। दरअसल अनुप्रिया भी बीजेपी के साथ अपने रिश्ते को लेकर सहज नहीं है और उनके एनडीए छोड़ने की भी चर्चा चलने लगी है जिसके चलते ही आज की बैठक में अनुप्रिया को भी शामिल किया गया। शाह के साथ बैठक में योगी ने कोरोना महामारी के दौरान किये गए कार्यों, टीकाकरण अभियान की भी जानकारी दी। साथ ही कोरोना की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर की जा रही तैयारियों के बारे में भी बताया। 
शाह और योगी की बैठक में उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल विस्तार का विषय भी चर्चा में आया। दरअसल, केंद्र चाहता है कि आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर योगी मंत्रिमंडल में अरविंद शर्मा समेत कुछ नए चेहरों को शामिल किया जाए। किंतु, योगी आदित्यनाथ ने मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर कोई खास रुचि नहीं दिखाई, जिसके बाद योगी और केंद्र के बीच तनातनी की खबरों को पंख लग गये और उत्तर प्रदेश सरकार का चेहरा तक बदलने की अटकलों का बाजार गर्म हो गया। नतीजतन, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को बीच मे हस्तक्षेप करना पड़ा। दिल्ली में हुई संघ और उसके अनुषांगिक संगठन के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में ही अगला विधानसभा चुनाव लड़ने पर मुहर लगाई गई। 
कहा जा रहा है कि हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए जितिन प्रसाद की भूमिका को लेकर भी शाह ने योगी से चर्चा की है। बीते दिनों भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बीएल संतोष और पार्टी के प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह ने लखनऊ का दौरा किया था और अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की तैयारियों की समीक्षा की थी।  विधायकों और संगठन के पदाधिकारियों के साथ चर्चा में ब्राह्मण वर्ग के मतदाताओं के योगी सरकार से नाराजगी की बात सामने आई थी। ऐसे में भाजपा जितिन प्रसाद को कोई महत्वपूर्ण दायित्व दे सकती है। इस बारे में भी दोनों नेताओं ने मशविरा किया। इससे पहले जितिन प्रसाद ने यूपी सदन में मुख्यमंत्री से भी मुलाकात की थी। 
बता दें कि गुजरात  काडर के आईएएस और पीएम मोदी के बेहद करीबी एके शर्मा के यूपी में एमएलसी बनने के बाद से ही मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चर्चा गर्म है। बुधवार की शाम प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और महामंत्री संगठन सुनील बंसल के साथ भी सीएम योगी की बैठक हुई। इसके बाद अचानक गुरुवार की दोपहर एक बजे सीएम योगी दिल्ली के लिए रवाना हो गए। योगी का विशेष विमान करीब तीन बजे हिंडन एयरपोर्ट पर पहुंचा। वहां से साढ़े तीन बजे उनका काफिला दिल्ली के यूपी सदन पहुंचा। यूपी सदन से सीएम योगी का काफिला ठीक चार बजे अमित शाह के आवास के लिए रवाना हो गया था। 


 

From around the web