डब्ल्यूएचओ ने कहा- वैक्सीनेशन कराने से कोरोना वेरिएंट्स का खतरा कम 

 
1

जिनेवा। डब्ल्यूएचओ की ओर से कहा गया है कि वैक्सीनेशन कराना ही कोरोना के नए वेरिएंट्स से बचने का एकमात्र जरिया है। ब्रिटेन में व्यापक स्तर पर कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की गई है और यह वैक्सीनेशन के कारण ही संभव हो सका है।

प्रेस कांफ्रेंस में डब्ल्यूएचओ के इमरजेंसी चीफ डॉ. माइकल रियान ने कहा है कि कोरोना महामारी से निकलने का जरिया अधिक से अधिक वैक्सीनेशन ही है। उन्होंने कहा कि कई सम्पन्न देश युवाओं और बच्चों को कोरोना की वैक्सीनेशन करा रहे हैं। उन्होंने बताया कि ब्रिटेन में व्यापक स्तर पर कोरोना के मामलों में गिरावट दर्ज की गई है और यह वैक्सीनेशन के कारण ही संभव हो सका है।

डब्ल्यूएचओ की तकनीकी अध्यक्ष मारिया वेन खेरकोवे ने बताया कि डेल्टा वेरिएंट बहुत तेजी से 60 देशों में फैल रहा है। साथ हा यब अल्फा वेरिएंट से अधिक तेजी से फैलता है। यह सबसे पहले ब्रिटेन में पाया गया था।डब्ल्यूएचओ के विश्व स्वास्थ्य संगठन महानिदेशक टेड्रोस अधानोम गेब्रेयेसस ने जी-7 लीडर्स को यूएन समर्थित वैक्सीनेशन प्रोग्राम को समर्थन देने की बात कही है जिससे विकासशील देशों में लोगों की वैक्सीन तक लोगों की पहुंच बढ़े।

इसके अलावा उन्होंने ‘2 ट्रैक पैंडामिक’ की चेतवनी जारी की है। इसमें बड़ी उम्र वालों की मृत्यु दर अधिक वैक्सीनेशन वाले देशों में घट रही है जबकि अमेरिका, पश्चिम प्रशांत देश और अफ्रीका में मृत्यु दरों में बढ़ोतरी हुई है।

From around the web