कैसा हो सेहतमंद खाना

 
1

अक्सर हम पेटभर भोजन खाते हैं। इसमें अनेक पदार्थ ऐसे भी होते हैं, जिन्हें हम पौष्टिक समझ कर खाते हैं लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि उन्हें क्या खाना चाहिए, क्या नहीं। अक्सर हम सलाद, फल, दूध, जूस आदि लेते समय यही सोचते हैं कि हम संतुलित आहार ले रहे हैं लेकिन जरूरी नहीं कि हमारे शरीर को उस आहार की जरूरत हो और जिस भोजन को आप नजरअंदाज करते हैं, शायद वह आपकी सेहत के लिए जरूरी हो, अत: पहले आपके लिए यह जानना जरूरी है कि संतुलित आहार में आप क्या व कैसे खाएं:-
सलाद:- प्राय: हम सलाद में खीरा, टमाटर, ककड़ी आदि लेते हैं। सैंडविच में सब्जियां भर कर खाते हैं या फिर थोड़े फल खाते हैं। कई बार हम इसी में ही संतुष्ट हो जाते हैं और भोजन नजऱअंदाज कर  देते हैं लेकिन सिर्फ थोड़े-से सलाद से हमारी खुराक की पूर्ति नहीं होती। बेहतर है कि हम एक बड़ा कटोरा सलाद खाएं। इससे आपकी भूख तो शांत होगी ही, साथ ही इसमें भरपूर मात्र में पौष्टिकता भी है।
दूध:- हमें दिनभर में 2०० मि. ली. के 2 गिलास दूध पीना चाहिए। आमतौर पर हम अनाज-जैसे दलिया आदि में थोड़ा - सा दूध डाल देते हैं परंतु हमें रोजमर्रा की जरूरत के अनुसार दूध पीना चाहिए। अगर हम अपने भोजन में से  दूध को नजरअंदाज करते हैं तो इससे कुछ कैलोरी अवश्य कम हो जाती है लेकिन इससे मिलने वाली कैल्शियम की मात्र से हम वंचित रह जाते हैं।
फल:- लोग भोजन में एक केला या एक सेब लेते हैं जबकि हमें दो फल दिन में अवश्य खाने चाहिएं। फल रेशेयुक्त होते हैं। इसकी कुदरती मिठास हमारे अंदर ऊर्जा को संचारित करती है। अगर आप फल खाते हैं तो दिन में कम से कम दो फल अवश्य खाएं, जैसे एक बड़ा सेब, एक संतरा या इसके आकार का कोई अन्य फल या एक कप अंगूर, एक बड़ा टुकड़ा खरबूजा या एक कटोरा फलों का सलाद अवश्य लेना चाहिए।
आपको फास्टफूड अत्यधिक पसंद है तो आप सप्ताह में एक बार इसका सेवन करें लेकिन ध्यान रखें कि इसमें भी सलाद इत्यादि से बनी वस्तुएं जैसे बर्गर, सैंडविच का सेवन करें पर अधिक कैलोरी व वसायुक्त भोजन कदापि न खाएं।
फलोंं का जूस:- जूस के एक गिलास में कैलोरी की मात्र 16० व चीनी की मात्र 65 ग्राम होती है। हमें कम से कम 15० मि. ली. जूस का सेवन करना चाहिए। इसमें विटामिन सी की मात्र काफी होती है जो हमारे लिए लाभदायक होती है लेकिन इसमें कैलोरी व चीनी की मात्र अधिक होने के कारण हमें 15० मि. ली. से अधिक जूस का सेवन नहीं करना चाहिए।
-भाषणा गुप्ता

From around the web