पति-पत्नी का विवाद मिटाता है हीरा

 
पति-पत्नी का विवाद मिटाता है हीरा
प्रकृति ने मानव को अनेक उपहार दिये हैं। इनमें से कई तो अमूल्य उपहार हैं। रत्न भी अमूल्य उपहार की श्रेणी मेें आते हैं। संसार के प्रत्येक भाग में रत्नों के प्रति आकर्षण अति-प्राचीनकाल से ही चला आ रहा है। ये अमूल्य चमकीले रत्न खनिज संसार के वे पुष्प हैं जिनमें सुगंध का अभाव होते  हुए भी व्यक्ति को मोह लेने की शक्ति होती है। रत्नों के राजा हीरा की नाम लेते ही व्यक्ति चाहे न खरीदे पर देखने की इच्छा तो कर ही देता है।
हीरा वह सुगन्धहीन फूल है जो ऋतुओं के प्रभाव से भी अपनी सुन्दरता में कमी नहीं आने देता। हीरा शुक्र  का रत्न है। हीरा कौन से व्यक्ति को धारणा करना लाभदायक है? यह प्रश्न व्यक्ति के मन में उठता है।
हीरा वे सभी व्यक्ति पहन सकते हैं जिनकी जन्म कुण्डली में शुक्र  अच्छे भावों का अधिपति होता है। इसके अलावा वृषभ लग्न के लिये शुक्र  पंचम और द्वादश का स्वामी होता है। पंचम में इसकी मूल त्रिकोण राशि होती है, अत: इस लग्न वाले के लिये शुक्र  अत्यंत सहायक ग्रह है।
कन्या लग्न के लिये शुक्र  द्वितीया और नवम भाव का स्वामी होता है। नवमेश भाव होने से यह विशेष कारक ग्रह बन जाता है।
तुला लग्न में शुक्र  स्वयं ही लग्नेश होता है। इन व्यक्तियों को बिना हिचकिचाहट के हीरा धारण करना चाहिए। मकर लग्न के लिए शुक्र  पंचम तथा दशम भाव का स्वामी होने से अत्यंत शुभ एवं योगकारक होता है।
कुंभ लग्न के लिये शुक्र  चतुर्थ और नवम भाव का स्वामी होता है तथा प्रबल भाग्येश माना जाता है। ऐसे जातक को  हीरे के साथ नीलम भी धारण करना चाहिए।
उपरोक्त लग्न वालों को हीरा धारण करना चाहिए। इसके धारण करने से आयु वृद्धि जीवन रक्षा स्वास्थ्य लाभ, व्यापार में लाभ एवं अन्य शुभ फल प्राप्त होते हैं।
इसके अलावा भी जो व्यक्ति नींद में चमक जाता हो, भूत एवं पिशाच का डर लगता हो, शारीरिक दृष्टि से कमजोर हो, उसे नीली झाई वाला हीरा धारण करना चाहिए।
प्रेमी या प्रेमिका या सामने वाले को अपनी ओर आकर्षित करने के लिये हीरे की अंगूठी उपहार में देना चाहिए एवं स्वयं भी पहनना चाहिए।
जिस घर में पति-पत्नी का विवाद रहता हो, घर में कलह का वातावरण रहता हो तो हीरे को धारण करना चाहिए। हीरा अपनी खूबियों से दोनों में प्रेम का बीज बो देता है। हीरे को धारण नहीं करने की दशा में हीरे के उपरत्न कुरंगी, दतला सिम्मा सोटेक धारण करना चाहिए।
सफेद पुखराज गोमेद वैदुर्य स्फटिक तथा कांच से नकली हीरे बनाये जाते हैं। अमेरिकन डायमण्ड हीरे का उपरत्न नहीं है। हीरा खरीदते समय यह सावधानी रखनी चाहिए। प्रमाणिक दुकान से ही असली हीरा गारंटी से खरीदना चाहिए।
- बसंत सोनी

From around the web