चटपटे चुटकुले

 
न
सुरजीत ने हनी का सालाना रिपोर्ट कार्ड देखा  तो उस पर बुरी तरह बरस पड़ा, इतने कम नम्बर। शर्म नहीं आती? यह हाल तब है , जब मैंने तुम्हें कहा था कि अगर तुम अच्छे नम्बर लाओगे तो मैं तुम्हें साईकिल ले दूंगा। क्या करते रहे, पढ़ने  की बजाय?
साईकिल चलाना सीखता रहा। हनी दबे स्वर में बोला।

यात्री (तांगे वाले से)- स्टेशन तक का कितना लोगे?
तांगे वाला-पांच रूपये और सामान मुफ्त ले चलूंगा।
यात्री-अच्छा तो सामान ही ले चलो। मैं पैदल आता हूं।

एक महिला ने फलों की दुकान पर फोन किया, 'मैंने एक दर्जन सेब मंगाये थे। आपने ग्यारह क्यों भेजे हैं?
'बहन जी' जवाब मिला, एक सड़ा हुआ था। हमने फेंक दिया आपको भी तो फेंकना ही था।

कल रात सर्कस का एक शेर पिंजरे से बाहर निकल गया। दर्शकों में अफरा-तफरी मच गई थी। सिर्फ रिंग मास्टर शांत था। वह कैसे? संता ने पूछा।
रिंग मास्टर ने शेर के पिंजरे का दरवाजा भीतर से बंद कर लिया था। बंता ने कहा।

From around the web