चटपटे चुटकुले

 
न
यार, एक बात समझ में नहीं आई, तुमने अपनी फर्म के लिए विकलांग खजांची का चुनाव क्यों किया? पहले मित्र ने जानना चाहा।
ताकि फरार होने पर वह जल्द से जल्द पकड़ा जा सके। दूसरे मित्र ने कारण बताया।

द्वार पर बहुत देर तक दस्तक पडऩे के कारण पति महोदय की नींद खुली, तो पत्नी को जगाते हुए बोला, सुनती हो, बहुत देर से कोई हमारे द्वार पर दस्तक दे रहा है।
आहे, तो तुम घर पर ही हो, पत्नी उनींदे स्वर में बोली, मैं तो यह सोचकर निश्चित थी कि द्वार पर तुम खड़े चिल्ला रहे हो।

मेरी घरवाली मेरे सिवा किसी और मर्द की ओर देखना तक पसंद नहीं करती। पहले दोस्त ने बताया।
पर यह बात आपको कैसे मालूम हुई? दूसरे दोस्त ने जानना चाहा।
ऐसे कि कल जब मेरी घरवाली का एक परिचित घर आया, तो वह उसे देखते  ही बोली, दफा हो जाओ मेरी नजरों से हमेशा के लिए। अब मैं तुम्हारा चेहरा तक देखना पसंद नहीं करती। पहला मित्र बोला।

From around the web