चटपटे चुटकुले

 
न
टीचर (बबलू से): तुम्हें पक्षियों से प्यार है न?
बबलू: बिल्कुल सर, पक्षियों पर तो मैं जान देता हूं।
टीचर: अच्छा तो फिर उनसे अपनी मोहब्बत  का इजहार करने के लिए तुम जल्दी से मुर्गा बन जाओ।

नेता जी ने अपने भाषण में कहा, मैं जानता हूं कि पानी की कमी के कारण आप लोग परेशान हैं, लेकिन एक बात की आप लोगों को खुशी भी होनी चाहिए कि जब तक पानी का प्रबन्ध नहीं हो जाता तब तक आप लोगों को पीने के लिए खालिस दूध मिलता रहेगा। अंत: पानी की कमी लम्बे समय तक चलती रहनी चाहिए।

कंजूस पिता (बेटे से): सुरेश तुम कुछ पढ़ रहे हो? बेटा, जी नहीं।
पिता: कुछ लिख रहे हो?
बेटा: जी बिल्कुल नहीं।
पिता (गुस्से से): सुरेश एक तो तुम्हारी फिजूलखर्ची की आदत दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, जब कुछ नहीं कर रहे तो फिर यह नजर की नई ऐनक क्यों लगा रखी है, उतारो इसे।

From around the web