गर्मी में भी मेकअप नहीं भूलती महिलाएं

 
गर्मी में भी मेकअप नहीं भूलती महिलाएं
गर्मी के आते ही पसीने और चिपचिपाहट का ध्यान आता है। गर्मी के मौसम में या तो मेकअप टिकता ही नहीं या फिर चेहरे की त्वचा के रोम छिद्रों के अंदर जा कर उन्हें बंद कर देता है। इससे चेहरे पर मेकअप की परतों से त्वचा भद्दी दिखाई देने लगती है।
आजकल बाजार में नित नये-नये सौंदर्य प्रसाधनों की मानों बाढ़ आ गई है। अब गर्मी में भी महिलाएं अब अपने चेहरे पर मेकअप करना नहीं भूलती। खूबसूरती को बरकरार रखने में मेकअप जरूरी है पर इस मौसम में मेकअप के पसीने में बह जाने की दिक्कत है। इससे बचाव के लिए मशहूर ब्यूटी पार्लर संचालिका श्रीमती कंचन शर्मा बताती हैं कि आधुनिक प्रसाधनों के अलावा आप के मेकअप करने के ढंग में भी बदलाव आना चाहिए।
मेकअप करने से पहले चेहरे को अच्छी तरह साफ करना चाहिए। फिर उसके बाद 3-4 बर्फ के टुकड़े प्लास्टिक की थैली में डालकर चेहरे पर अच्छी तरह तब तक मलना चाहिए जब तक कि त्वचा बिल्कुल ठंडी न हो जाए। 5 मिनट सुखाने के बाद त्वचा के रंग से मेल खाती फाउंडेशन और उस में थोड़ा सा ठंडा पानी मिलाकर चेहरे पर लगाना चाहिए। इसके बाद कांपैक्ट पाउडर इस्तेमाल करना चाहिए जिससे त्वचा में फिनिश्ंिाग टच भी आ जाए।
श्रीमती शर्मा आगे बताती हैं कि गर्मी के मौसम में पेंसिल लिपस्टिक कलर ज्यादा देर तक लगी रहती है लेकिन कोई भी लिपस्टिक लगाने से पहले होंठों पर हल्का पाउडर लगाएं और पहला कोट लिपस्टिक लगाने के बाद होंठों को आपस से दबाएं और फिर फाइनल कोट लगाएं। इससे होंठों पर चमक आ जाती है। गर्मी के मौसम में परिधानों पर विशेष ध्यान देने की बात पर डेऊस डिजाइनर दिपाली गुप्ता कहती हैं-गर्मी के मौसम में हल्के रंगों में सूती भारतीय या पश्चिमी पोशाक ही ठीक हैं जो पसीना सोख कर शरीर को तरोताजा रखती हैं। इस मौसम में सिंथेटिक कपड़े पहनने से पसीना सूखता नहीं है जिससे त्वचा के खराब होकर रैश व एक्जि़मा होने का डर रहता है। सुश्री गुप्ता कहती हैं-इसी प्रकार बंद शूज के बजाय खुली चप्पलें, सैंडिल पहनें ताकि पांवों में हवा लगती रहे।
- गजेन्द्र सिंह

From around the web