मुजफ्फरनगर के बोपाड़ा में बन रहे 15 लाख रुपए की कीमत का नाला बारिश में बहा

 
dawdf

मुजफ्फरनगर। मंसूरपुर क्षेत्र के गांव बोपाड़ा में लगातार हो रही बारिश में नाला बह गया है। 10 दिन में दो नालों में हुए खेल ने जिला पंचायत की पोल खोल दी। सवाल यह है कि ये नाले मानक के अनुरूप क्यों नहीं बनाए ज़ा रहे। सरकारी धन की बंदरबांट के चलते बोपाड़ा के नाले का पूरा सरिया ऊपर नजर आ रहा है, जैसे बिना सीमेंट के ही नाला बनाया गया हो। नाले की दीवारों में दरारें आ गई है। चंद दिन पहले ही यह नाला बनाकर तैयार किया गया था। ग्रामीणों ने बताया कि जिला पंचायत सदस्य शौकीन ने इस नाले का करीब 25 दिन पहले निर्माण कराया था। जिला पंचायत अध्यक्ष वीरपाल निर्वाल ने बोपाड़ा में नाला बहने की पुष्टि करते हुए कहा कि एक दो दिन में टीम की जांच रिपोर्ट आने के बाद पूरी तस्वीर साफ हो पाएगी। उन्होंने बताया कि लछेड़ा की तरह बोपाड़ा के ठेकेदार का भी एक रुपया भुगतान नहीं किया गया है। नाला जब तक सही नहीं बनेगा, ठेकेदार का भुगतान नहीं होगा। ठेकेदारों को यह समझा दिया गया है कि गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं होगा। अब हर नाला निर्माण में जिला पंचायत के अधिकारी या वो खुद गुणवत्ता की जांच करेंगे। डॉक्टर वीरपाल निर्वाल ने बताया कि यह नाला 1500000 रुपए के बजट मैं बनाया जा रहा था। विगत दिनों ग्राम लेछेड़ा में भी निर्माणाधीन नाला बारिश मैं बह गया था। उस ठेकेदार को भी अभी तक जिला पंचायत की ओर से भुगतान नहीं किया गया है उन्होंने बताया कि यदि गुणवत्ता में कोई कमी पाई जाती है तो नाला निर्माण कराया जाएगा और किसी भी तरह का भुगतान ठेकेदार को नहीं किया जाएगा।

From around the web