मुज़फ़्फ़रनगर में रिश्वत खोरी के आरोप में चौकी इंचार्ज समेत 5 लाइनहाज़िर

 
fr

मुजफ्फरनगर। शहर कोतवाली क्षेत्र की खालापार पुलिस चौकी इंचार्ज व 4 सिपाहियों को लाइन हाजिर किये जाने के मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। आरोपी चारों सिपाही एक युवक को नारकोटिक्स एक्ट में जेल भेजने की धमकी देकर एक लाख वसूल चुके थे, जबकि 2 लाख बाकी थे। इस मामले की जांच एसएसपी अभिषेक यादव के आदेश पर एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने की थी। जांच रिपोर्ट आने के बाद एसएसपी अभिषेक यादव ने आरोपी चौकी प्रभारी प्रवेश शर्मा व 4 कांस्टेबल को लाइन हाजिर करते हुए उनके स्थान पर सिविल लाइन कोतवाली के एसएसआई राकेश शर्मा को कमान दी है।

बताया जाता है कि शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला खालापार निवासी जुनैद ने एसएसपी अभिषेक यादव से शिकायत की थी, कि खालापार पुलिस चौकी के कुछ सिपाही उसे बिना वजह परेशान कर रहे हैं। 3 दिन पहले उक्त सिपाही जुनैद के घर से उसकी स्कूटी उठा लाये थे, जबकि जुनैद ने कागज़ भी पुलिस को दे दिए थे। मगर स्कूटी चोरी की बताकर उत्पीडऩ हुआ और उसे नशे के कारोबार में जेल भेजने की धमकी देकर दलाल के माध्यम से एक लाख झटक लिए गए। शिकायत पर जांच हुई, तो मामला सही माना गया। हालांकि खालापार चौकी प्रभारी प्रवेश शर्मा की संलिप्तता सीधे तौर पर  नहीं पाई गयी, लेकिन जांच रिपोर्ट के आधार पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने सभी आरोपी चारों सिपाहियों एवं पुलिस चौकी प्रभारी प्रवेश शर्मा को लाइन हाजिर करते हुए बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस कप्तान की इस कार्रवाई से हड़कंप मचा हुआ है। एसएसपी अभिषेक यादव ने कहा कि शिकायत के आधार पर जांच हुई थी, जिसमें संलिप्तता पाए जाने पर यह कार्रवाई की गई है। फिलहाल सब इंस्पेक्टर राकेश शर्मा को खालापार चौकी प्रभारी बनाया गया है।  

From around the web