राकेश टिकैत पर हमले के विरोध में भाकियू ने पीएम को भेजा ज्ञापन, जेड प्लस सुरक्षा की मांग

 
बूूब

मुज़फ्फरनगर। देश के बड़े किसान नेता चौधरी राकेश टिकैत पर कर्नाटक के बेंगलुरु में प्रेसवार्ता के दौरान हुए हमले को लेकर देश भर के किसानों और किसान संगठनों में भारी रोष देखने को मिल रहा है इस घटना को लेकर देश भर में किसानों ने जिला मुख्यालयों पर धरना प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री के नाम एक ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा। वही जनपद मुज़फ्फरनगर में भारतीय किसान यूनियन के बैनर पर सैंकड़ों किसानों ने जिला कलेक्ट्रेट पर एक धरना प्रदर्शन किया और मामले की उच्चस्तरीय जांच करने और सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने के संबंध में जिला प्रशासन को प्रधानमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा।
आपको बता दें कि कर्नाटक के बेंगलुरु में कर्नाटक राज्य रैयत संघ के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के किसान सम्मेलन में भाग लेने भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत और राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह पहुंचे थे। सम्मेलन से पहले गाँधी भवन में प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया था, जिसको भाकियू नेता राकेश टिकैत संबोधित कर रहे थे। इस दौरान कुछ असामाजिक तत्वों ने प्रेसवार्ता में अचानक पहुंचकर मंच के समीप जाकर राकेश टिकैत पर जानलेवा हमला कर दिया और उनके ऊपर काली स्याही भी फेंकी थी हालांकि इस दौरान वहां मौजूद किसानों ने उनको पकड़ लिया। घटना के दौरान वहां जमकर मारपीट और कुर्सियां चली थी। जानकारी के अनुसार पुलिस ने इस मामले में कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया है। भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि वहां पुलिस की ओर से कोई सुरक्षा के प्रबंध नहीं किए गए थे और हमले के बाद भी पुलिस मूकदर्शक बनी रही। भारतीय किसान यूनियन ने आरोप लगाया कि किसान नेता पर हमला बीजेपी और आरएसएस के कार्यकर्ताओं के द्वारा किया गया है।
ज्ञापन के माध्यम से भारतीय किसान यूनियन ने प्रधानमंत्री से मांग की है कि इस पूरे प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए ताकि भविष्य में ऐसे वारदातों को रोका जा सके। साथ ही इस कृत्य में शामिल सभी लोगों को पर्दाफाश कर उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित कराई जाए। वरना भारतीय किसान यूनियन देशभर में इस हमले के विरोध में आंदोलन करने को मजबूर होगी। साथ ही प्रदेश सरकार को आदेशित किया जाए कि इस प्रकरण की निष्पक्ष जांच करे और दोषियों को कड़ी सजा दे। वहीं, भविष्य में ऐसी घटना को रोकने के लिये व राकेश टिकैत की सुरक्षा के लिये Z+ सेक्युरिटी मुहैया कराने की व्यवस्था पुख्ता की जाए।

From around the web