जैन तीर्थस्थलों की सरकार द्वारा अनदेखी, वहलना तीर्थ की सड़क निर्माण न होने पर होगा आंदोलन:गौरव जैन
 

 
v
         
मुजफ्फरनगर। भारत में हर जगह जैनो के तीर्थस्थल बड़ी संख्या में है जिनमे जैन श्रावको की अटूट आस्था है व पूरी दुनिया के जैन इन तीर्थस्थलों में अपनी अपनी आस्था अनुसार धर्म व दर्शन लाभ लेते हैं, परंतु आज की सरकारों ने जैनो की जो अनदेखी की है, वह किसी से छुपी हुई नही है व जैन समाज में इस अनदेखी से जबरदस्त रोष है । लगातार जैन तीर्थाथलो को बचाने के लिये जैनो को हर बार अलग अलग स्थानों पर संघर्ष करना पड़ता है, परंतु बात सुरक्षा की हो या विकास की जैन मंदिर,स्थानक या कोई भी अन्य जैन तीर्थस्थल सरकारों ने उनकी पूरी तरह अनदेखी की है, ऐसा ही एक उदाहरण है । वर्तमान में जनपद मुज़फ्फरनगर में जैनो की आस्था नगरी वहलना जहां स्वयंभू तीर्थंकर भगवान पार्शवनाथ स्वामी जी का अतिशयकारी मंदिर है, जहाँ हर वर्ष लाखो जैन श्रद्धालु पूरी दुनिया से आते हैं व हाल ही में 2 अक्टूबर को वहां एक बड़ा मेला हमेशा की तरह आयोजित होना है जिसमें हजारों जैन भक्तों की शिरकत हमेशा होती है । कार्यक्रम के अब कुछ ही दिन बचे हैं, परंतु मुख्य जीटी रोड से वहलना मंदिर को जाने वाली सड़क आज पूरी तरह गायब हो चुकी है, परंतु सरकार व प्रशासन का इस और कोई ध्यान नहीं है, जहां एक ओर खत्म हो चुकी मुख्य सड़क आवागमन में बाधा है वहीं दूसरी ओर यह सड़क एक बड़ी दुर्घटना को निमंत्रण दे रही है। सरकार की अनदेखी से पूरे जैन समाज में आक्रोश व्याप्त है समाज की धर्म भावनाओं व हजारो लोगो की असुविधा को ध्यान में रखते हुए जैन एकता मंच युवा शाखा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव जैन ने तुरन्त सड़क निर्माण की मांग करते हुए कहा कि अगर तीन दिन के भीतर सरकार या प्रशासन नहीं जागे व इस सड़क को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया तो जैन एकता मंच युवा शाखा के नेतृत्व में समस्त साथीगण व समस्त जैन समाज के लोगो को इकट्ठा कर इस समस्या के निवारण हेतु एक बड़ा आंदोलन गांधीवादी तरीके से करेंगे जैन समाज को न्याय दिलाने के लिए किसी भी हद तक जाना पड़ा तो पीछे नहीं हटेंगे, हम लोग अहिंसावादी जरूर है, लेकिन गांधीवादी तरीको से अपनी लड़ाई लड़ना भी जानते हैं गौरव जैन ने समस्त जैन कमेटियों, संगठनों व जैन समाज के नौजवान साथियों से भी आह्वान किया कि सभी लोग एकजुट होकर इस आंदोलन का हिस्सा बने व इस समस्या को जोर-शोर से उठाएं जब तक इस समस्या का हल नही होगा, सरकार व प्रशासन को कुम्भकर्णी नींद से जगाने के लिये हम यह लड़ाई लड़ते रहेंगे।

From around the web