ट्यूबवेल पर मीटर लगने के विरोध में भारतीय किसान संगठन ने किया धरना प्रदर्शन

 
ूपप


 

मुजफ्फरनगर। कचहरी परिसर स्थित जिला अधिकारी कार्यालय पर भारतीय किसान संगठन के पदाधिकारियों ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पूरण सिंह के आह्वान पर प्रदेश स्तर पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन  जिला मुख्यालय पर किया। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम विभिन्न समस्याओं को लेकर एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौपा। जिसमें उन्होंने कहा कि भाजपा ने चुनाव से पूर्व अपने लोक संकल्प पत्र में घोषणा की थी,कि अगर उनकी सरकार प्रदेश में बनती है। तो वह किसानों को सिंचाई हेतु मुफ्त बिजली देंगे उन्होंने सरकार को याद दिलाते हुए कहा कि वह किसानो को मुफ्त बिजली देकर अपना वादा पूरा करें। अन्यथा किसान सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा। साथ ही किसानों की ट्यूबवेल पर लगने वाले बिजली मीटर का मुद्दा लगातार गर्माता जा रहा है।
भारतीय किसान संगठन के पदाधिकारियों ने सरकार को चेताते हुए कहा, कि यदि सरकार ने किसानों की ट्यूबवेल पर मीटर लगाने की प्रक्रिया को नहीं रोका तो वह इसके खिलाफ सड़कों पर उतर कर धरना प्रदर्शन करेंगे। ज्ञात हो के बीते कल काकड़ा में हुई भारतीय किसान यूनियन की महापंचायत में भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने भी ट्यूबेल पर लगने वाले मीटरों को लेकर सरकार को चेताया था उन्होंने कहा था यदि ट्यूबवेल पर मीटर लगाए गए तो हम खेतों मे खड़े ख़म्बो को गिरा देंगे और बिजली के मीटरों से थानों को भर देंगे। आपको बता दें बिजली की समस्या को लेकर लगातार सभी किसान संगठन सरकार के खिलाफ है। और सभी कि मांग है कि किसानों की ट्यूबवेल पर मीटर न लगाया जाए।  वहीं कलेक्ट्रेट में धरना दे रहे भारतीय किसान संगठन के जिला अध्यक्ष ठाकुर दीपक सोम ने यूपी के बजट को लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने बजट में किसानों के लिए कोई प्रावधान नहीं किया है जबकि किसानों से चुनाव से पूर्व वादा किया गया था कि उन्हें सिंचाई के लिए निशुल्क बिजली मिलेगी लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा जारी बजट में कोई प्रावधान किसानों के लिए नहीं किया गया है।

From around the web