जाट महासभा ने रालोद प्रत्याशी की निंदा की, कहा- तीन दिन में माफी मांगे मदन भैय्या

 
म


मुज़फ्फरनगर। खतौली विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में एक-दूसरे के खिलाफ हो रही बयानबाजी आपस में वैमनस्य बढाने का काम कर रही है। मंत्री डा. संजीव बालियान के परिवार पर मदन भैया द्वारा की गई टिप्पणी को लेकर जाट समाज में आक्रोश देखने को मिला है। अखिल उत्तर प्रदेश जाट महासभा के प्रदेश महासचिव सतेन्द्र्र बालियान के आव्हान पर एक महत्वपूर्ण बैठक मेरठ रोड स्थित एक रिसोर्ट में आयोजित की गई, जिसकी अध्यक्षता चमन सिंह ने र्की, जिसका मुख्य एजेंडा मदन भैया की टिप्पणी रहा। बैठक का संचालन अशोक प्रधान ने किया, जिसमें सर्व समाज के लोगों ने 11 सदस्यों की कमेटी भी गठित की। 

मुजफ्फरनगर की खतौली विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में बयानों का दौर जारी है। उसी को लेकर राष्ट्रीय लोकदल के उम्मीदवार मदन भैया के द्वारा बीते दिनों एक इंटरव्यू में केंद्र राज्य मंत्री डॉ संजीव बालियान के बयान पर पलटवार करते हुए कहा था कि उनके भाई राहुल कुठुबी पर अपहरण जैसे मुकदमे दर्ज हैं। रालोद प्रत्याशी मदन भैया के इस बयान से जनपद के जाट समाज में रोष है। उसी के मद्देनजर जाट समाज ने मेरठ रोड स्थित गुप्ता रिसोर्ट में एक बैठक की गईं।

बैठक में मौजूद जाट समाज के सैकड़ों लोगों ने रालोद प्रत्याशी के बयान की निंदा करते हुए एक 11 सदस्यों की एक समिति बनाई। समिति ने निर्णय लिया कि आगामी 3 दिन के भीतर रालोद प्रत्याशी मदन भैया पीड़ित परिवार के सामने जाकर सार्वजनिक रूप से माफी मांगे। जाट महासभा के प्रदेश सचिव सत्येंद्र बालियान ने यदि रालोद प्रत्याशी मदन भैया माफी नहीं मांगते हैं तो खतौली विधान सभा में ही जाट महासभा एक महापंचायत करेगी जाट समाज की महापंचायत में पहुंचे। इस दौरान गठबंधन नेता व पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक भी जाट समाज की बैठक में पहुंचे। राष्ट्रीय लोक दल के प्रत्याशी मदन भैया के बयान की निंदा की। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान के अंदर यह परंपरा है कि दिवंगत आत्मा को नमन करता है और कोई टिप्पणी नहीं करते। पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को अटल बिहारी वाजपेई के बयानों पर गौर करना चाहिए। उन्होंने उनके बयान का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने एक बार एक बयान में कहा था कि राजनीतिक टिप्पणी होनी चाहिए व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं होनी चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि वह शीर्ष नेतृत्व से बात करके इस तरह की बयानबाजी पर रोक लगाने की मांग करेंगे। 

जाट महासभा के प्रदेश सचिव सत्येंद्र बालियान ने कहा कि रालोद प्रत्याशी मदन भैया को मालूम ही नहीं के राहुल कुठुबी स्वर्गीय हो चुके हैं और उनके भाई सतीश बालियान भी सपा रालोद गठबंधन से जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव लड़े थे।

सत्येंद्र बालियान ने कहा कि 11 सदस्यों की समिति ने निर्णय लिया है कि रालोद प्रत्याशी मदन भैया पीड़ित परिवार के घर पहुंचे और उनके शुभचिंतकों से माफी मांगे साथ ही उन्होंने मदन भैया के द्वारा जारी किए गए वह वीडियो वाले माफीनामा पर तंज कसते हुए कहा कि उस वीडियो में मदन भैया का अहंकार झलक रहा है जाट महासभा के प्रदेश सचिव सत्येंद्र बालियान ने कहा कि इस प्रकरण में हम राजनीति नहीं करना चाहते हम चाहते हैं कि समाज में सामंजस्य स्थापित रहे। 

From around the web