मुजफ्फरनगर में जाट महासभा ने सोनी टीवी पर महाराजा सूरजमल की गलत छवि गढने का लगाया आरोप

 
न

मुजफ्फरनगर। जनपद में जाट महासभा ने सोनी टीवी पर महाराजा सूरजमल की गलत छवि गढने का लगाया आरोप मुजफ्फरनगर। जनपद जाट महासभा ने नाटक अहिल्या के डायरेक्टर व एक्टर्स पर कार्रवाई की मांग करते हुए महाराजा सूरजमल की गलत छवि पेश करने का आरोप लगाया है।

जाट महासभा ने सोनी टीवी पर प्रसारित एक नाटक में महाराजा सूरजमल की गलत छवि गढने का आरोप लगाते हुए आक्रोश व्यक्त किया है। महासभा कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट पहुंचकर डीएम के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा, जिसमें उन्होंने सोनी टीवी पर प्रसारित नाटक अहिल्या के निर्देशक एनवी जैक्सन सेठी और कलाकरों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है।

जनपद जाट महासभा अध्यक्ष जगदीश बालियान और महासचिव ओमकार अहलावत ने कार्यकर्ताओं के साथ कलक्ट्रेट पहुंचकर सोनी टीवी पर प्रसारित नाटक अहिल्या के कथानक पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने प्रधानमंत्री के नाम भेजे गए ज्ञापन में कहा कि नाटक में जाट समाज के श्रद्धेय राजा सूरजमल का गलत चित्रण किया है। नाटक में दिखाया गया है कि वह युद्ध में पराजित हुए। जबकि इतिहास गवाह है कि उन्होंने कभी कोई युद्ध नहीं हारा। उन्होंने बताया कि महाराजा सूरजमल ने युद्ध से लौटते मराठा राजाओं की भी सहायता की थी। महाराजा सूरजमल का स्वर्णिम इतिहास रहा है। कहा कि उन्हें दबाबाज और जुबदिल कहना गलत है। जाट महासभा पदाधिकारियों ने शासन प्रशासन से मांग की कि नाटक अहिल्या के निर्देशक और कलाकारों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाए। इस मौके पर रामपाल वर्मा, सुमित मलिक, देवी सिंह, जयवीर सिंह, अनिल चौधरी, डा. रविन्द्र पंवार, ब्रजवीर सिंह, सुंदर पाल, देवेन्द्र तोमर, डा. जीत सिंह तोमर, कर्नल ओमप्रकाश, कृष्णपाल निर्वाल, सतेन्द्र बालियान, कुलदीप प्रधान और महाकार सिंह आदि शामिल रहे।

From around the web