मुज़फ्फरनगर: ई-श्रम कार्ड के नाम पर ठगी करने वाला एक आरोपी गिरफ्तार, दूसरा हुआ फरार

 
मोरना। क्षेत्र में ई श्रम कार्ड में रूपये दिलाने का झांसा देकर महिलाओं के साथ ठगी करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस के दूसरे फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। आरोपी युवक बायोमेट्रिक मशीन पर महिलाओं का अंगूठा लगाकर उनके खातों से रूपये उड़ा देते थे।  भोपा थाना क्षेत्र के गांव कसौली निवासी नवाबी व जुल्फ़ाना ने भोपा थाने पर मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया था कि बीते शनिवार को उनके गांव में दो व्यक्ति आये जिन्होंने अपने आप को विकास भवन का कर्मचारी बताते हुए ग्रामीणों के ई- श्रम कार्ड अपडेट करने की बात कही और इसके बाद ई-श्रम कार्ड के पैसे आने का झांसा दिया। आरोपी अपने साथ अंगूठा लगाने की मशीन लिए हुए थे, जिस कारण मौहल्लेवासी उनके झांसे में आ गए। सोमवार को ठगी की शिकार हुई दोनों महिलाएं अपने पैसे निकालने के लिए बैंक में पहुंची, तो उन्हें महिला नवाबी के खाते से दस हजार और जुल्फाना के खाते से पांच हजार रुपये गायब मिले, जिस पर दोनों महिलाएं सकते में आ गयी, जिसके बाद मामले की जानकारी भोपा पुलिस को दी गई। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर सरगर्मी से आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी। थाना प्रभारी निरीक्षक भोपा बिजेंद्र सिंह रावत ने बताया कि थाना भोपा पर तैनात वरिष्ठ उप निरीक्षक सत्यनारायण दहिया उप निरीक्षक मोहित कुमार कांस्टेबल, श्यामू यादव व नितिन शर्मा ने मुखबिर की सूचना पर रहकडा पुलिया से अभियुक्त साहिल पुत्र इसरार निवासी महमूदनगर जनकपुरी गली थाना सिविल लाईन मुजफ्फरनगर को गिरफ्तार किया है। उक्त आरोपी से घटना में प्रयुक्त एक मोबाईल, एक बैग, एक बायोमैट्रिक मशीन, फर्जी पहचान पत्र, फर्जी ई-श्रम पंजीयन, उदघोषणा प्रमाण पत्र, बैंक चैक बुक व धोखाधड़ी के पैसों से खरीदी गई एक मोटरसाईकिल बजाज पल्सर बिना नम्बर प्लेट बरामद की गई है। आरोपी ने अपने साथी सारिक उर्फ चीची पुत्र वकील निवासी महमूदनगर गली थाना सिविल लाईन मुजफ्फरनगर के साथ मिलकर ई श्रम कार्ड को अपडेट कराने का षडयन्त्र रच तथा फर्जी जनसेवा केन्द्र का आई कार्ड बनाकर ग्राम कसौली में दो महिलाओं से बायोमैट्रिक मशीन पर अंगूठे लगवाकर लिंक आधारकार्ड को अपने मोबाईल में स्पाईस मनी व ईजी पे एपलिकेशन के माध्यम से अपने कौटेक महिन्द्रा बैंक एकाउंट में ट्रांसफर करने की बात कबूल की है। गिरफ्तार आरोपी को जेल भेज दिया गया है, वही उसके फरार साथी की तलाश की जा रही है।

मोरना। क्षेत्र में ई श्रम कार्ड में रूपये दिलाने का झांसा देकर महिलाओं के साथ ठगी करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस के दूसरे फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। आरोपी युवक बायोमेट्रिक मशीन पर महिलाओं का अंगूठा लगाकर उनके खातों से रूपये उड़ा देते थे।  

भोपा थाना क्षेत्र के गांव कसौली निवासी नवाबी व जुल्फ़ाना ने भोपा थाने पर मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया था कि बीते शनिवार को उनके गांव में दो व्यक्ति आये जिन्होंने अपने आप को विकास भवन का कर्मचारी बताते हुए ग्रामीणों के ई- श्रम कार्ड अपडेट करने की बात कही और इसके बाद ई-श्रम कार्ड के पैसे आने का झांसा दिया। आरोपी अपने साथ अंगूठा लगाने की मशीन लिए हुए थे, जिस कारण मौहल्लेवासी उनके झांसे में आ गए।

सोमवार को ठगी की शिकार हुई दोनों महिलाएं अपने पैसे निकालने के लिए बैंक में पहुंची, तो उन्हें महिला नवाबी के खाते से दस हजार और जुल्फाना के खाते से पांच हजार रुपये गायब मिले, जिस पर दोनों महिलाएं सकते में आ गयी, जिसके बाद मामले की जानकारी भोपा पुलिस को दी गई। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर सरगर्मी से आरोपी की तलाश शुरू कर दी थी।

थाना प्रभारी निरीक्षक भोपा बिजेंद्र सिंह रावत ने बताया कि थाना भोपा पर तैनात वरिष्ठ उप निरीक्षक सत्यनारायण दहिया उप निरीक्षक मोहित कुमार कांस्टेबल, श्यामू यादव व नितिन शर्मा ने मुखबिर की सूचना पर रहकडा पुलिया से अभियुक्त साहिल पुत्र इसरार निवासी महमूदनगर जनकपुरी गली थाना सिविल लाईन मुजफ्फरनगर को गिरफ्तार किया है।

उक्त आरोपी से घटना में प्रयुक्त एक मोबाईल, एक बैग, एक बायोमैट्रिक मशीन, फर्जी पहचान पत्र, फर्जी ई-श्रम पंजीयन, उदघोषणा प्रमाण पत्र, बैंक चैक बुक व धोखाधड़ी के पैसों से खरीदी गई एक मोटरसाईकिल बजाज पल्सर बिना नम्बर प्लेट बरामद की गई है। आरोपी ने अपने साथी सारिक उर्फ चीची पुत्र वकील निवासी महमूदनगर गली थाना सिविल लाईन मुजफ्फरनगर के साथ मिलकर ई श्रम कार्ड को अपडेट कराने का षडयन्त्र रच तथा फर्जी जनसेवा केन्द्र का आई कार्ड बनाकर ग्राम कसौली में दो महिलाओं से बायोमैट्रिक मशीन पर अंगूठे लगवाकर लिंक आधारकार्ड को अपने मोबाईल में स्पाईस मनी व ईजी पे एपलिकेशन के माध्यम से अपने कौटेक महिन्द्रा बैंक एकाउंट में ट्रांसफर करने की बात कबूल की है।

गिरफ्तार आरोपी को जेल भेज दिया गया है, वही उसके फरार साथी की तलाश की जा रही है।

From around the web