क्रिकेटर सुरेश रैना के रिश्तेदारों के हत्यारे के साथ मुजफ्फरनगर पुलिस की मुठभेड़, दो शातिर गिरफ्तार 

 
न

मुजफ्फरनगर। जनपद की क्राइम ब्रांच और नगर कोतवाली पुलिस की देर रात चेकिंग के दौरान घुमंतू गिरोह के बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में दो शातिर बदमाश पुलिस की गोली का शिकार हो गए। बदमाशों के पास से पुलिस ने अवैध असलहा और एक बिना नंबर की मोटरसाइकिल भी बरामद की है।
दरअसल मुजफ्फरनगर के एसएसपी विनीत जायसवाल के निर्देश पर मुजफ्फरनगर की नगर कोतवाली पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम संयुक्त रूप से चेकिंग अभियान चलाए हुए थी, तभी एक बिना नंबर की मोटरसाइकिल सवार दो संदिग्धों को पुलिस ने रुकने का इशारा किया तो उन्होंने रुकने की बजाय पुलिस पार्टी पर फायर झोंक दिया। पुलिस ने भी जवाबी कार्यवाही में फायरिंग का जवाब फायरिंग से दिया। आमने सामने की हुई मुठभेड़ में बाइक सवार दोनों बदमाश गोली लगने से घायल हो गए। जब पुलिस ने घायल बदमाशों से पूछताछ की तो दोनों बदमाशों की पहचान घुमंतू गिरोह के सक्रिय सदस्य तालिब और काका उर्फ शहजान के रूप में हुई। पुलिस ने जब इन बदमाशों से और ज्यादा पूछताछ की तो पता चला कि लगभग 2 साल पहले पंजाब के पठानकोट में विख्यात क्रिकेटर सुरेश रैना की बुआ, फूफा और एक अन्य की हत्या ओर डकैती के मामले में भी काका उर्फ शहजान वांछित चल रहा था। इसके अलावा अंबाला में भी इन बदमाशों ने एक लूट के बाद हत्या की घटना को अंजाम दिया था। 
मौके पर पहुंचे एसएसपी विनीत जायसवाल और एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने सीओ सिटी कुलदीप सिंह, नगर कोतवाल आनंद देव मिश्रा और क्राइम ब्रांच की टीम को शाबाशी दी है।

From around the web