मुज़फ्फरनगर: तनेजा हास्पिटल में नाक की प्लास्टिक सर्जरी की दो दिवसीय कार्यशाला का हुआ समापन

 
ा

मुजफ्फरनगर। नाक की प्लास्टिक सर्जरी की दो दिवसीय कार्यशाला का समापन हो गया। कार्यशाला में डॉ. विवेक तनेजा, इंदौर से डॉ. बसेर, दिल्ली से डॉ. गंभीर, डॉ. जसबीर तथा नासिक से डॉ. क्षितिज पाटिल ने सर्जरी तथा व्याख्यान के लिए भागीदारी की। कार्यशाला में ऋषिकेश के डॉ. मनु मल्होत्रा ने सर्जरी का ऑडिटोरियम से समन्वय किया।

कार्यशाला के आयोजक तथा मुजफ्फरनगर के उभरते कॉस्मेटिक सर्जन डॉ. विवेक तनेजा ने बताया कि इसमें 40 से अधिक ईएनटी सर्जन ने भाग लिया। कार्यशाला में अंबाला से डॉ. अचिंतय चावला एवं सुभारती मेरठ से डॉ. अक्षिता को सर्वश्रेष्ठ पीजी अवार्ड पेपर प्रस्तुति में गोल्ड मेडल व डॉ. अमरजीत को पोस्टर प्रेजेंटेशन में गोल्ड मेडल अवार्ड से सम्मानित किया गया। कोच्चि के डॉ. जेरिन थॉमस को सर्वश्रेष्ठ सर्जरी असिस्टेंट के रूप में गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया।

ज्ञात रहे कोविड के पश्चात तनेजा हॉस्पिटल द्वारा की जाने वाली पहली वर्कशॉप है। डॉ. तनेजा जो ईएनटी सर्जन के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सार्क देशों के महासचिव रहे हैं, 1995 से 28 कार्यशाला आयोजित कर चुके हैं, जिसमें 800 से अधिक ईएनटी सर्जन ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है। पुन: कार्यशाला के आयोजन से जनपद का नाम भी विश्वपटल पे उजागर हुआ है। कार्यशाला में समस्त ऑपरेशन केवल औषधि खर्च पर निशुल्क किए गए हैं। यह जनपद में एक नई शुरुआत है, जिससे रोगियों को अब दिल्ली नहीं जाना पड़ेगा।

कार्यक्रम का संचालन डॉ. महेंद्र कुमार तनेजा ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में राजेश शर्मा, अंकुर वाधवा, विशाल महेंद्रा, नूपुर गर्ग, धीरज पालीवाल, संजय राठी, मनोज कुमार, राहुल त्यागी, मोहम्मद कामरान, कमल सिंह का योगदान रहा।

 

From around the web