मुजफ्फरनगर: हर हर शंभू' गाने पर इंडियन आइडल फेम फरमानी नाज से उलेमा खफा

 
erfsgdhh

मुजफ्फरनगर।  यूट्यूब चैनल की गायिका फरमानी नाज को विवादों ने उस समय घेर लिया जब उन्होंने इस बार के कांवड़ मेले में हर हर शंभू का एक गाना रिकॉर्ड कर उसे यूट्यूब चैनल पर अपलोड कर दिया था। जिसकी लोगों ने जहाँ जमकर सराहना की है तो वही देवबंद के कुछ मौलाना इसकी मुखालफत करते भी नजर आ रहे हैं। 

दरअसल मुजफ्फरनगर जनपद के रतनपुरी थाना क्षेत्र स्थित मोहम्मदपुर माफी गांव की रहने वाली फरमानी नाज की शादी 25 मार्च 2017 को मेरठ के छोटा हसनपुर गांव निवासी इमरान से हुई थी। लेकिन शादी के 1 साल बाद बेटा होने के बाद से ही फरमानी को उसके ससुराल वालो ने परेशान करना शुरू कर दिया था। बताया जाता है कि फ़रमानी के बेटे के गले में कोई बीमारी थी। जिसके चलते फरमानी के ससुराल वाले फरमानी को परेशान कर उस पर अपने मायके से पैसे लाने का दबाव बनाते थे। जिससे परेशान आकर फरमानी अपने बेटे के साथ अपने मायके मोहम्मदपुर माफी आकर रहने लगी थी।

फ़रमानी की माँ फ़ातिमा की माने तो गांव के ही एक युवक राहुल उर्फ़ भूरा के पास बाहर से कुछ लोग वीडियो बनाने के लिए आते थे। एक दिन जिन्होंने फरमानी को गाते सुना जो उन्हें बहुत पसंद आया बस फिर क्या था। उन्होंने फरमानी का गाना रिकॉर्ड कर यूट्यूब चैनल पर डाल दिया था।  जिसकी लोगों ने जमकर सराहना की थी। इस दौरान फ़रमानी इंडियन आइडल में भी गई थी। जहाँ से बच्चे की तबियत ख़राब होने के चलते उन्हें वापस आना पड़ा था। 

जिसके बाद से फरमानी यूट्यूब सिंगर बन कर सामने आई थी। अब फरमानी अपने बच्चे का पालन पोषण गाने गाकर ही करती हैं लेकिन आपको बता दे की फरमानी उस समय विवादों में फंस गई जब उसने इस बार की कावड़ यात्रा में शिव शंभू का एक गाना रिकॉर्ड कर यूट्यूब चैनल पर डालकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। जिसे जहा जनता ने जमकर सराहा है तो वही देवबंदी मौलवियों द्वारा इसका विरोध भी किया जा रहा है। 

इस बारे में मीडिया से बात करते हुए फ़रमानी की मां फातिमा ने बताया कि फरमानी मेरी बेटी है और फरमानी की शादी को 25 मार्च को 5 साल हो जाएंगे एक साल अपने ससुराल में वह सही रही उसके बाद उसके लड़का हुआ और उसके ससुरालियों ने उसे परेशान करने शुरू कर दिया था। उसके बच्चे के गले में कुछ परेशानी थी जो भी वह खाता था वह सब नाक मे को निकल जाता था। फरमानी के ससुरालिया उसे परेशान बहुत करने लगे थे। उसे कहते थे अपने घर से पैसे लेकर आ बच्चे का इलाज कराएंगे उसके बाद फरमानी यहां अपने मायके में आ गई थी। जिसके बाद उसने एक गाना गाया था जिसे यूट्यूब पर डाल दिया गया था। जो खूब चला था उससे पहले उसने कभी नहीं गया था। इंडियन आइडल में फ़रमानी गई थी लेकिन बच्चे की तबीयत खराब होने की वजह से वापस आ गई थी। फरमानी के एक ही लड़का है फरमानी के पति ने दूसरी शादी कर ली और इसे डिवोर्स भी नहीं दिया गांव का एक लड़का भूरा है उसके पास बाहर से वीडियो बनाने कुछ लोग आते थे। उसी दौरान फरमानी को उन्होंने गाते हुए सुन लिया था। जिसके बाद उन्होंने फरमानी का गाना रिकॉर्ड कर यूट्यूब पर डाल दिया था जिसे लोगों ने बहुत पसंद किया था। फरमानी अब गाने गाकर ही अपने बच्चे को पाल रही है कावड़ में उसने गाना गाया था। एतराज तो लोग करते ही हैं कि मुसलमान की लड़की गाना गा रही है। लेकिन जब वह गाने गाती है तो उसे हर तरह के गाने गाने पड़ते हैं। अपने बच्चे को पालने के लिए तो उसे सब कुछ करना ही पड़ेगा वह भजन भी गाती है कव्वाली भी गाती है सारे ही गाने गाती है उन्हें अच्छा नहीं लग रहा है इसलिए वह कह रहे हैं। लेकिन इस बात को नहीं देख रहे कि वह अपने बच्चे को भी पाल रही है नमाज भी पढ़ती है वह रोजी भी रखती है सारे काम करती है। फ़रमान और फरमानी दोनों बहन भाई साथ रहते हैं।  मंत्री संजीव बालियान ने हमारी लड़की को सम्मानित भी किया और उसके बच्चे का इलाज करने भी मदद की उन्होंने हमारे लिए बहुत कुछ करा है। 

वही अपने बारे में बताते हुए यूट्यूब सिंगर फ़रमानी नाज़ ने बताया की मेरा नाम फरमानी नाज है ,मैंने मेहनत बहुत करी है, और शौक भी था गाने का लेकिन इतना मौका नहीं मिला मुझे गाने का जो मैं गाती गांव के रहने वाले हम गरीब लोग हैं मां बापू ने कभी कहा ही नहीं कि मैं कहीं जाकर गाऊ शादी होगी पति से बात बिगड़ गई पति दूसरी किसी लड़की से बात करता था। लड़का हुआ लड़के के गले में दिक्कत थी। उसके बाद मैं बेटे को लेकर अपने घर आ गई कई महीने ससुराल वालों का इंतजार करा लेकिन कोई लेने नहीं आया बेटे का ऑपरेशन कराया उसे भी देखने नहीं आए।

आपको बता दे कि देवबंद के मौलाना मुफ्ती असद कासमी ने कहा है कि इस्लाम में शरीयत के अंदर कोई भी किसी भी तरह का गाना गाना जायज नहीं है। मुसलमान होते हुए अगर कोई गाना गाता है तो यह गुनाह है. किसी भी तरीके के गाने हों, उनसे फरहेज करना चाहिए, उनसे बचना चाहिए। फरमानी नाम की महिला ने हर हर शंभू गाना गाया है. यह शरीयत के खिलाफ है. मुसलमान होने के बावजूद ऐसे गाने गाना गुनाह है. महिला को इससे परहेज करना चाहिए, तौबा करनी चाहिए।

From around the web