भाजपा से त्रस्त आ चुकी है जनता, नोटबंदी से अभी तक नहीं उबरा आम आदमी: जयंत

 
जयंत

मुजफ्फरनगर। खतौली सीट पर हो रहे उप चुनाव में रालोद प्रत्याशी मदन भैया की जीत सुनिश्चित करने के लिए प्रचार में घूम रहे रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि जनता भाजपा से त्रस्त आ चुकी है।

रालोद सुप्रीमो जयंत चौधरी ने 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई नोटबंदी पर सरकार को घेरते हुए कहा कि 8 नवंबर ऐसी तारीख है, जिसे कोई नहीं भुला सकता। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में केस चल रहा है, इसमें सरकार ने एफिडेविट लगाकर क्लेम किया है कि हमने आरबीआई से इसकी पूरी सिफारिश को तैयार करा था। रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने तत्कालीन आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के एक इंटरव्यू का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने इसके लिए साफ इनकार कर दिया था। रघुराम राजन ने कहा था कि यह सरकार का अपना एजेंडा था, आरबीआई से कोई विचार परामर्श नहीं हुआ।

जयंत चौधरी ने कहा कि वह किसान और मजदूरों के हक की लड़ाई लड़ रहे हैं। इस लड़ाई में वह अकेले ही नहीं बल्कि उनके साथ गठबंधन के साथी सपा और आजाद समाज पार्टी भी है। उन्होंने कहा कि उन्हें गठबंधन का धर्म निभाते हुए आगे बढ़ना होगा। उन्होंने दावा किया कि चुनाव में जनता जीत का कलाकंद उन्हें ही खिलाने जा रही है।  

जयंत चौधरी खतौली उपचुनाव में रालोद सपा गठबंधन प्रत्याशी मदन भैया के प्रचार के लिए डेरा डाले हुए हैं। सोमवार को वह पार्टी के वरिष्ठ नेता पूर्व सांसद राजपाल सैनी के देवपुरम स्थित आवास पर पहुंचे और यहां सैक्टर प्रभारियों के साथ परिचय मीटिंग की। यहां पहुंचने पर पूर्व सांसद राजपाल सैनी और उनके सुपुत्र शिवान सैनी ने जयंत चौधरी के साथ ही सपा, रालोद और आजाद समाज पार्टी के नेताओं, विधायकों और अन्य लोगों का स्वागत किया। यहां आयोजित बैठक को सम्बोधित करने से पूर्व जयंत चौधरी ने रालोद के खतौली विधानसभा के सैक्टर प्रभारियों से परिचय प्राप्त किया और चुनाव को लेकर सैक्टर स्तर पर चल रही तैयारियों की समीक्षा की। बैठक को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि खतौली का यह उपचुनाव भाजपा और उसकी सरकारों की जनविरोधी और किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ लड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनता भाजपा की नीतियों से, विधायकों से और सत्ता से परेशान है। हमने इस चुनाव के लिए पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को सेक्टरों की जिम्मेदारी सौंपी है, पार्टी भी एक परिवार है और परिवार में कोई भी जिम्मेदारी छोटी नहीं होती है, जो दायित्व मिला है, उसको ईमानदारी के साथ मिलकर सभी को साथ लेकर चला जाये और पूरा करें। परिवार में कोई भी छोटा बड़ा नहीं होता है, सभी महत्वपूर्ण हैं। दिल लगाकर काम किया जाये तो सफलता मिलेगी।

From around the web