मुजफ्फरनगर के चरथावल में बारिश में छत गिरी, सात पशु दबे, 2 की मौत

 
व

 

चरथावल। गांव कुल्हेड़ी में बड़ा हादसा हो गया। मूसलाधार बारिश के चलते किसान के घेर की कच्ची छत भरभराकर गिर गई, जिसमें सात पशु दब गए। दो पशुओं की मौके पर ही मौत हो गई। गिरती छत देख किसान दंपती ने किसी तरह घेर से बाहर भागकर अपनी जान बचाई। पुलिस ने मौके का मुआयना किया।  

जानकारी के अनुसार चरथावल थाना क्षेत्र के गांव कुल्हेड़ी में बस्ती से अलग हटकर अफसर ने अपना घेर बनाया हुआ है। अफसर पत्नी और 5 बच्चों के साथ घेर में ही रहता है। वहीं पर 7 दुधारू पशु पालकर घर का गुजारा चलाता है। अफसर की पत्नी इमराना ने बताया कि देर रात काफी तेज बारिश हुई और बिजली भी कड़की। पीड़ित ने बताया कि वह तथा उसका पति अफसर पशुओं के पास घेर में सोए हुए थे, जबकि बच्चों को सामने बने कमरों में सुलाया था। तेज बारिश के साथ जैसे ही बिजली कड़की, तो उन्हें छत और दीवारों से अजीब आवाज आना शुरू हुई। बताया कि उसने अपने पति को उठाया और घेर से बाहर आ गए। इतने में ही घेर की कच्ची छत भरभराकर गिर गई, जिसमें 7 पशु दब गए। पीड़ित ने शोर मचाया, तो गांव वाले मदद को आए। काफी मशक्कत के बाद मलबे से पशुओं को निकाला, लेकिन उसकी दो भैंस मलबे में ही दबकर मर गई। इमराना ने बताया कि उन्होंने पशुओं को घेर में ही बांधा हुआ था। इसके साथ घर का खाने पीने का सामान भी वे लोग घेर में ही रखते थे। घेर में ही वह पूरे साल का गेहूं रखते थे। छत गिरने से पशुओं के साथ खाने पीने का सामान तथा साल भर का गेहूं भी मलबे में दब गया, जिससे लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। घेर की छत गिरने से पशुओं के लिए साया भी खत्म हो गया है। वही बारिश के बीच एसडीएम सदर प्रमानन्द झां ने घटनास्थल पर पहुंचकर घटना की जानकारी लेते हुए पीडि़त परिवार को मुआवजा दिलाए जाने का आश्वासन दिया।
 

From around the web