महाराष्ट्र की राजनीति में उथल-पुथल पर बोले संगीत सोम, करनी का फल भुगतना पड़ता है

 
म

मुज़फ्फरनगर। जनपद स्थित न्यायालय में आचार संहिता उलंघन मामले की पेशी पर पहुँचे बीजेपी के फ़ायर ब्रांड नेता संगीत सोम ने महाराष्ट्र की राजनीती में चल रही उथल पुथल पर बड़ा बयान देते हुए कहा है कि करनी का फल भुगतना तो पड़ता ही है। आपको बता दें कि संगीत सोम ने मुज़फ्फरनगर जनपद से सन 2009 में सपा के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था। उस दौरान सभा में जा रहे इनके समर्थकों का किसी बात को लेकर पुलिस से विवाद हो गया था। जिसमें पुलिस ने संगीत सोम और उनके समर्थकों पर मुकदमा दर्ज किया था। जिसकी पेशी पर आज संगीत सोम मुज़फ्फरनगर कोर्ट में पेश हुए थे। जिसमे कोर्ट ने एविडेंस के लिए 6 जुलाई की तारीख़ नियत की  है। 
संगीत सोम ने कहा कि  अग्निपथ बहुत अच्छी योजना है उसका विरोध नहीं होना चाहिए। वह देश के लिए एक बहुत मजबूत योजना है युवाओं के लिए एक अच्छी योजना है। उन्होंने कहा कि आप उसकी बुकलेट पढ़कर देखिए उसे पढ़े और समझे। सरकार युवाओं के लिए कर रही है युवाओं को समझ नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि अग्निपथ को लेकर हिंसा करने वालों में केवल राजनीतिक लोग है युवा इनमें से कोई नही है। उन्होंने महाराष्ट्र की राजनीति में चल रही उथल-पुथल पर कहा कि करनी का फल तो  भुगतना पड़ेगा। उन्होंने तौफीक रजा का नाम लेते हुए कहा कि उसके पास मस्जिद में नमाज पढ़ने का टाइम नहीं है, लेकिन यही लोग हैं जो देश को बर्बाद करने पर तुले है। यहीं लोग किसान यूनियन के पीछे हैं, यही अग्निपथ के पीछे हैं। उन्होंने कहा कि देश विश्व गुरु बनने जा रहा है लेकिन इन लोगों को पसंद नहीं आता है। मुझे मौका मिलेगा तो बढ़िया इलाज होगा और अब भी अच्छा इलाज हो रहा है चिंता मत कीजिये।  उन्होंने कहा कि अगर गुंडों के घर बुल्डोजर नहीं चलेगा तो कैसे आप सुरक्षित होंगे कैसे बहन बेटियाँ सुरक्षित होगी। कैसे हम लोग सुरक्षित होंगे।

From around the web