मुज़फ्फरनगर में सूदखोर से त्रस्त युवक ने लगाई इच्छामृत्यु की गुहार, पुलिस भी सूदखोर का दे रही साथ !

 
न

मुजफ्फरनगर। सालाना डेढ़ सौ प्रतिशत से भी अधिक का ब्याज वसूलने वाले सूदखोर से त्रस्त युवक ने पुलिस-प्रशासन से पत्नी व दो बच्चों समेत इच्छामृत्यु की इजाजत दिए जाने की गुहार लगाई है। पीडि़त का कहना हैं कि सूदखोर कुछ पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर उसका उत्पीडऩ करने के साथ ही सोशल मीडिया पर भी अनर्गल लिखकर उसे बदनाम कर रहा है।

सिखेड़ा थाना क्षेत्र के गांव भंडूरा निवासी दीपक कुमार पुत्र कालूराम ने रविवार दोपहर मीडिया सेंटर पर प्रेस वार्ता करते हुए बताया कि उसने कुछ समय पहले गांव के ही इरफान पुत्र इस्लाम से कारोबार करने के लिए पांच लाख रुपए उधार लिए थे। आरोप है कि कुछ समय बाद इरफान ने उस पर 12.50  प्रतिशत प्रति माह का ब्याज लगा दिया। यही नहीं समय से ब्याज न देने पर सौ रुपये पर एक रुपये प्रतिदिन की डर से पेनल्टी भी लगा दी गई। आरोप है कि ब्याज और पेनल्टी के रूप में ही आरोपी इरफान पीडि़त से अब तक 1.21 लाख रुपए वसूल भी कर चुका है। इसके बावजूद लगातार उसे धमकियां दी जाने लगी, जिसके चलते पीडि़त का व्यापार चौपट हो गया और उसका पूरा परिवार भुखमरी के कगार पर आ गया। इस पर पीडि़त ने आरोपी के रुपए लौटाने के इरादे से अपने गांधीनगर स्थित मकान का सौदा कर दिया, जिसके लिए वह 15 सितंबर को मकान का बैनामा करने तहसील सदर में गया था। आरोप है कि खुद को पत्रकार बताने वाला सूदखोर कुछ पुलिसकर्मियों के साथ तहसील सदर पहुंचा और वहां से  गाली-गलौज करते हुए गिरेबान पकड़कर खालापार चौकी ले गया। वहां से पुलिसकर्मियों की मिलीभगत से  अकारण पीडि़त का शांतिभंग की आशंका में चालान करा दिया गया। इसके बाद भी लगातार पीडि़त व उसके पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। पीडि़त का आरोप है कि आरोपी सूदखोर ने उसके व परिवार व रिश्तेदारों के संबंध में सोशल मीडिया पर फोटो के साथ अनर्गल बातें लिखकर समाज में उसकी प्रतिष्ठा को धूमिल कर दिया है, जिसके चलते उसके पास अब परिवार समेत आत्महत्या करने के अलावा कोई और रास्ता नहीं बचा है। सूदखोर से पीडि़त युवक ने अब पुलिस-प्रशासन से पत्नी व दो बच्चों समेत इच्छामृत्यु की इजाजत दिए जाने की गुहार लगाई है।

 

From around the web