ग्राम प्रधान पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप, जांचकर्ता टीम ने भी नहीं की निष्पक्ष जांच 
 

 
म

मुज़फ्फरनगर। चरथावल के ग्राम ज्ञाना माजरा के ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर गांव में किए गए विकास कार्यों में घोटाले का आरोप लगाया। गांव में पंचायत घर में विकास कार्य के नाम पर मरम्मत कार्य कराया गया। गांव में प्रधान द्वारा इंटरलोक लगवाई गई है उसमें भी ग्राम प्रधान ने मोटी रकम का गबन किया है। 
दरअसल कचहरी परिसर स्थित जिला अधिकारी कार्यालय पहुंचे ब्लॉक चरथावल क्षेत्र के  ज्ञाना माजरा के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को मांगपत्र सौंपा। ग्राम प्रधान के द्वारा किए जा रहे घोटालों के जांच की मांग की। निर्माण समिति के अध्यक्ष राजकुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि गांव ज्ञाना माजरा की महिला प्रधान अनपढ़ है और प्रधानी उनके पति संतराम करते है। निर्माण समिति के अध्यक्ष राजकुमार ने बताया कि इस संबंध में उन्होंने जिलाधिकारी को पहले भी शिकायत की थी तो उनके आदेश पर वीडियो जानसठ एडीओ पंचायत चरथावल जय चरथावल और सचिव चरथावल कि एक संयुक्त टीम जांच करने पहुंची तो उन्होंने शिकायतकर्ताओं से कोई पूछताछ नहीं की। ग्रामीणों का आरोप है। कि ग्राम प्रधान द्वारा किए गए ग्राम में विकास कार्य जैसे इंटरलॉक शौचालय बनवाना, पंचायत घर का विकास कार्य और हैंड पंप लगे है। इन सभी कार्यों में प्रधान पति ने मोटी रकम का घोटाला किया है। उनका आरोप है कि ग्राम प्रधान मीन देवी अनपढ़ है और उनके पति लगातार गांव में होने वाले विकास कार्यों में घोटाले कर रहे हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि जब इसकी शिकायत उन्होंने जिला प्रशासन से कि तों ग्राम प्रधान पति संतराम ने शिकायत कर्ताओं को पुलिस में पकड़वाने की धमकी दी।

From around the web