गठबंधन प्रत्याशी मदन भैया व भाजपा प्रत्याशी राजकुमारी सैनी के चुनाव प्रचार ने पकड़ी तेज़ी !

 
गठबंधन प्रत्याशी मदन भैया व भाजपा प्रत्याशी राजकुमारी सैनी के चुनाव प्रचार ने पकडी तेजी

खतौली। खतौली विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी राजकुमारी देवी और रालोद सपा के गठबंधन प्रत्याशी मदन भैय्या के चुनाव प्रचार ने तेज़ी पकड़ ली है। चुनाव लड़ रहे भाजपा व रालोद सपा के संयुक्त प्रत्याशियों के जीत की तिकड़म भिड़ाई जाने के दौरान एक निर्दलीय प्रत्याशी प्रमोद अन्ना द्वारा भी फाइट में आने के लिए पूरी ज़ोर आजमाइश की जा रही है। इसके उलट विक्रम सैनी की विधायकी छिनने के प्रकरण में आज हाईकोर्ट में होने वाली सुनवाई पर भी क्षेत्रवासियों की नज़र लगी हुई है। कवाल कांड के दौरान हैट स्पीच दिए जाने के प्रकरण में सेशन कोर्ट द्वारा दो साल की सजा सुनाए जाने के बाद विधायक विक्रम सैनी को विधायकी से हाथ धोना पड़ गया है।

विधानसभा में सीट रिक्त घोषित होने के बाद वर्तमान में निर्वाचन आयोग द्वारा खतौली विधानसभा सीट पर उपचुनाव कराया जा रहा है। भाजपा प्रत्याशी के रूप में पूर्व विधायक विक्रम सैनी की पत्नी श्रीमती राजकुमारी देवी और रालोद सपा व आज़ाद समाज पार्टी के संयुक्त प्रत्याशी मदन भैय्या ने चुनाव मैदान में ताल ठोक रखी है।

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती द्वारा उपचुनाव में अपनी पार्टी का प्रत्याशी न उतारने की घोषणा के बाद बसपा के सिंबल पर चुनाव लड़ने की मंशा रखने वाले जिला पंचायत सदस्य प्रमोद अन्ना निर्दलीय मैदान में उतर आए हैं।

निर्वाचन आयोग ने मतदान की तारीख़ 5 दिसंबर घोषित कर रखी है। इस दिन खतौली विधानसभा क्षेत्र के 138 गांव के अलावा कस्बे में बनाए गए 369 मतदान केंद्रों पर तीन लाख तेरह हजार सात सौ नब्बे मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करके चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों का भाग्य मतपेटियों में बंद कर देंगे। भाजपा ने उपचुनाव जीतने के लिए प्रदेश सरकार के मंत्रियों, विधायकों, सांसदों की पूरी फौज मैदान में उतार दी है। इसके साथ ही नाक का सवाल बने उपचुनाव को जीतने के लिय केंद्रीय मंत्री डा. संजीव बालियान ने मोर्चा संभाल रखा है।

दूसरी ओर रालोद मुखिया चौधरी जयंत सिंह भी उपचुनाव का किला फतह करने के लिए पूरे दमखम के साथ चुनाव मैदान में आ डटे हैं। भाजपा और रालोद सपा गठबंधन के नेताओं के बीच जुबानी जंग छिड़ने से उपचुनाव में तल्खीं भी बढ़ने लगी है।

भाजपा प्रत्याशी राजकुमारी देवी की नामांकन सभा में केंद्रीय मंत्री डा. संजीव बालियान द्वारा बाहरी और बाहुबली पर किए गए कटाक्ष के बाद गठबंधन प्रत्याशी मदन भैय्या द्वारा किए गए पलटवार से उपचुनाव का सियासी पारा चरम पर पहुंच गया है। इसके अलावा नोएडा के श्रीकांत त्यागी प्रकरण का साइड इफेक्ट उपचुनाव पर पड़ने से रोकने के लिए भी भाजपा चौकन्नी बनी हुई है। इसी कवायद के चलते रविवार को केंद्रीय मंत्री डॉक्टर संजीव बालियान ने त्यागी बाहुल्य गांवों नावला, अंबरपुर और खेड़ी तगान में डोर टू डोर जनसंपर्क किया। उपचुनाव की गहमा-गहमी के बीच विक्रम सैनी द्वारा अपनी विधायकी बचाने के लिए हाईकोर्ट में डाले गए वाद की आज होने वाली सुनवाई पर क्षेत्रवासियों की नजऱ लगी हुई है।

From around the web