मुज़फ्फरनगर में कांग्रेसियों की गुटबाजी नहीं ले रही थमने का नाम, मंडल प्रभारी के खिलाफ ही की नारेबाजी 

 
न

मुजफ्फरनगर। केन्द्र की सत्ता से आठ सालों से बाहर चल रही कांग्रेस पार्टी अब देश के कुछ ही राज्यों में सत्ता पर काबिज है, लेकिन फिर भी गुटबाजी करने से उसके कार्यकर्ता बाज नहीं आ रहे है और एक दूसरे की टांग खींचकर पार्टी को कमजोर करने में लगे हुए है। बुधवार को भी ऐसा ही एक मामला सामने आया, जिसमें पार्टी की गुटबाजी उभर कर सामने आई।

वरिष्ठ कांग्रेसियों की एक बैठक मेरठ रोड स्थित एक रेस्टोरेंट में संपन्न हुई, जिसकी अध्यक्षता कार्यवाहक जिलाध्यक्ष राकेश पुंडीर व संचालन अरशद राणा ने किया। बैठक में राकेश पुंडीर ने 9 से 15 अगस्त तक चलने वाली महंगाई व ईडी के दुरुपयोग के खिलाफ भारत जोड़ो यात्रा को सफल बनाने के लिए सभी कांग्रेसियों से यात्रा में शामिल होने का आह्वान किया।

उन्होंने कहा कि बुधवार को हुई बैठक में मंडल प्रभारी डा. संजीव शर्मा ने आने से इंकार कर दिया। बैठक में उपस्थित सभी वरिष्ठ कांग्रेसियों ने डा. संजीव शर्मा के इस व्यवहार से दुखी होकर डा. संजीव शर्मा को मुजफ्फरनगर से हटाने का  प्रस्ताव पारित किया, क्योंकि डा. संजीव शर्मा ने अपनी रिश्तेदारी निभाते हुए सभी कांग्रेसियों को दरकिनार कर दिया। फोन करने पर डा. संजीव शर्मा ने जवाब दिया कि मैं अभी बिजी हूं और मैं आपके कार्यक्रम में नहीं आऊंगा। इस पर जब एक कांग्रेसी नेता ने कहा कि तुम कौन सी कांग्रेस को मुजफ्फरनगर में जन्म देने जा रहे हो, तुम्हारा फर्ज बनता है तुम्हें ऊपर से जो जिम्मेदारी मिली है कि तुम सब को एक साथ लेकर चलो और तुम गुटबाजी में मुजफ्फरनगर को बांटने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ रहे। आखिर कब तक निभाओगे रिश्तेदारी, जिस पर राकेश पुंडीर ने कहा कि पार्टी हित में जेल जाने वाले और पार्टी के लिए कुर्बानी देने वाले और पार्टी के लिए समर्पित जन्मों-जन्मों से यहां पर कार्यकर्ता बैठक में एकत्रित है। आप आकर उनका सम्मान करें और उनसे शिष्टाचार मुलाकात करें। डा. संजीव शर्मा ने जवाब दिया कि मैं नहीं आऊंगा, जिस पर कांग्रेसियों ने डा. संजीव शर्मा के खिलाफ खूब नारेबाजी की और नारा दिया संजीव शर्मा हटाओ मुजफ्फरनगर बचाओ।

बैठक में मुख्य रूप से पूर्व जिलाध्यक्ष नानू मियां, पूर्व जिला अध्यक्ष हरेंद्र त्यागी, चरथावल विधानसभा पूर्व प्रत्याशी पति अरशद राणा, जिला उपाध्यक्ष संजीव त्यागी, जिला महासचिव प्रहलाद राणा, सतीश शर्मा, सतीश शेरावत, असजद, ममून, जगदीश अरोरा, रविंद्र बालियान, रेहाना बेगम, विनोद चौहान, अफसाना अंसारी, नीलम शर्मा, योगेश खारी, वीरभान कटारिया, नरेश भारती, महेश विश्वकर्मा, धामी सिंह, नरेश चौहान, श्याम सिंह, रिजवान अहमद, हर्ष त्यागी, गोपाल शर्मा, आशीष गुप्ता, जयपाल सिंह, योगेश शर्मा, राजेंद्र बिल्लू, गफ्फार, बीबी गर्ग, अजमत पुंडीर, आकील  पुंडीर, नरेश, नंदन वाल्मीकि, डॉक्टर देवेंद्र वर्मा, शमीम सैफी, बाबर खान, शकील बाबा, नवनीत सिंगल, शाह अब्दुल्ला राणा, सुल्तान राणा, मोहम्मद अकरम, नौशाद मियां, इमरान खान, सोनू पुंडीर, योगेश राणा, राशिद अब्बासी, वाजिद खान मौजूद रहे।

From around the web