मुज़फ़्फ़रनगर में गौवंश की दुर्दशा जारी, कूडा गाडी में डालकर ले गये मृत गौवंश 

 
न

मोरना। भोपा थाना क्षेत्र में गोवंश की दुर्दशा लगातार जारी है। नगर पंचायत भोकरहेड़ी में गोवंश की दुर्दशा और भूख के कारण बेहाल होने की खबर वायरल होने के बाद हरकत में आए प्रशासन ने उनके लिए हरे चारे की व्यवस्था की थी, परंतु अभी भी भोपा थाना क्षेत्र में गोवंश की दुर्दशा ज्यो की त्यों है।

थाना क्षेत्र के गांव बेलडा में स्थित अस्थाई गौशाला में गुरुवार को एक गोवंश की मौत हो गई। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि कर्मचारियों ने गौवंश के शव को कूड़ा गाड़ी में ले जाकर बिना पोस्टमार्टम कराए गड्ढे में दफना दिया। मामले को लेकर ग्रामीणों में रोष का माहौल है।
 उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद से गौशालाएं सरकार की प्रमुख योजनाओं में शामिल हैं। मगर भोपा थानाक्षेत्र की कुछ गौशालाओं का बुरा हाल है। गौशालाओं में पल रहे पशुओं के लिए हरा चारा भी उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। गौवंश सूखा चारा खा कर गौशालाओं में तड़प रहे हैं। गोवंशो की दुर्दशा हो रही है, मगर गोवंश की दुर्दशा पर प्रशासन का कोई ध्यान नहीं है। ताजा मामले में थाना क्षेत्र के गांव बेलड़ा में स्थित अस्थाई गौशाला में गुरुवार सुबह एक गोवंश ने दम तोड़ दिया। गोवंश के दम तोडऩे के बाद वहां के कर्मचारियों की बड़ी लापरवाही सामने आई। ग्रामीणों के अनुसार कर्मचारियों ने गोवंश के शव को एक कूड़ा गाड़ी में डाल लिया और बिना पोस्टमार्टम कराए गंग नहर के किनारे गड्ढा खोदकर उसे दफना दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि गौशाला में मरने वाले गोवंशों की मौत का कारण जाने बगैर बिना पोस्टमार्टम के ही शवों को गड्ढे में दबा दिया जाता है। मामले को लेकर ग्रामीणों में रोष का माहौल है और ग्रामीण तरह तरह की बाते कर रहे है।

From around the web