रामपुरी में विवादित नाले के निर्माण को लेकर हंगामा, जेसीबी के सामने लेटी महिलाएं, पुलिस ने की अभद्रता

 
न


मुजफ़्फरनगर। नगर कोतवाली क्षेत्र के मौहल्ला रामपुरी में काफी समय से नाले के निर्माण को लेकर चल रहा विवाद आज अपने चरम पर पहुंच गया। सिटी मजिस्टे्रट व सीओ सिटी ने भारी पुलिस फोर्स के साथ रामपुरी पहुंचकर होली चौक पर बलपूर्वक नाला निर्माण कार्य शुरू कराया, तो दर्जनों महिलाओं ने जेसीबी मशीन को रोक दिया और उसके सामने लेट गई, जिन्हें पुलिस ने बलपूर्वक हटा दिया। इस दौरान महिलाओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और उनसे धक्का-मुुक्की करते हुए अभद्रता की। पुलिस ने दर्जनों पुरूषों को

भी हिरासत में लिया, जिन्हें शहर कोतवाली लाया गया, जबकि महिलाओं को वहीं पर छोड दिया था।

बताया जा रहा है कि रामपुरी में नाला निर्माण कार्य होना था, जिसे लेकर रामपुरी में क्षेत्र के ही दो पक्ष आमने-सामने थे। एक पक्ष नाला बनने के समर्थन में था, तो दूसरा पक्ष नाला बनने के विरोध में था। शुक्रवार को नगर मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह, सीओ सिटी कुलदीप

सिंह, जल निगम के अधिशासी अभियंता भीम चाहर, नगर कोतवाल योगेश शर्मा भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और नाले का निर्माण शुरू करा दिया। नाले के निर्माण में समाजसेवी मनीष चौधरी और कई अन्य लोगों ने इसका विरोध किया, तो पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए सभी को हिरासत में ले लिया और कोतवाली ले गए। कुछ लोगों के हिरासत में जाते ही प्रशासन ने नाले का निर्माण शुरू करा दिया हैं। पुलिस मनीष चौधरी समेत सभी लोगों को कोतवाली ले आई, तो इसी बीच अनेक हिंदू संगठनों ने कोतवाली

पहुंचकर नारेबाजी शुरू कर दी, इसकी सूचना मिलते ही भाजपा जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला भी शहर कोतवाली पहुंचे। जिलाध्यक्ष ने सिटी मजिस्ट्रेट से वार्ता कर कहा कि यह नाला निर्माण कार्य रोका जाए और जिन लोगों की गिरफ्तारी हुई है, उनको तुरंत छोड़ा जाए। घंटों की गहमागहमी के बाद सभी को छोड दिया गया और फिलहाल नाला निर्माण कार्य को रोक दिया गया है तथा मौके पर पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है।

From around the web