यह किसानों की, आंदोलनजीवियों की और देश की जीत है : जयंत चौधरी

 
ं

 मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा है कि पहली बार किसानों की एकजुटता व ताकत के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पीछे हटने को मजबूर होना पड़ा हैं। यह सब किसानों की एकजुटता और ताकत से ही संभव हो पाया है। नए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की घोषणा देश के अन्नदाता की जीत है, जो लोग पिछली खिड़की से खेती किसानी पर कब्जा करने के मंसूबे पाले हुए थे, उनका अहंकार टूट गया है। उन्होंने कहा है कि सभी को आंदोलनजीवी होना पड़ेगा। इसके बाद कोई भी सरकार शोषण नहीं कर पाएगी।
 बघरा में कल्याणकारी इंटर कॉलेज के मैदान पर आयोजित रालोद की परिवर्तन संदेश रैली में उमड़ी भारी भीड़ को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय लोकदल के सुप्रीमो जयंत चौधरी ने कहा है कि नए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने से दिवंगत चौधरी अजीत सिंह की आत्मा को अवश्य ही शांति पहुंची होगी। कृषि कानूनों को वापिस लिये जाने की घोषणा के बावजूद अभी भी किसानों को सचेत रहने की जरूरत है, क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास कोई अन्य डिग्री हो या नहीं, लेकिन उनके पास झूठ की डिग्री जरूर है। रालोद मुखिया जयंत चौधरी ने रैली के मंच से ऐलान किया है कि यदि उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो सरकार की ओर से उत्तर प्रदेश के एक करोड़ युवाओं को नौकरी दी जाएगी। उन्होंने हुंकार भरी कि यदि वह ऐसा नहीं कर पाए तो वह अपने पद से तुरंत त्यागपत्र दे देंगे। इसके अलावा किसानों एवं मजदूरों की परेशानियों को दूर करने के लिये बिजली के पुराने बिल माफ  किए जाएंगे और आने वाले बिल हाफ  यानी आधे कर दिए जाएंगे। उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई घटना का उल्लेख करते हुए जयंत चौधरी ने कहा कि किसानों के लिए लाठियां खाई थी, आगे भी किसानों के लिए लाठियां खाएंगे। जिस सरकार ने लाठी बरसाई है, अब उससे बदला लेने का समय आ गया है।
परिवर्तन संदेश रैली में जयंत चौधरी को सुनने के लिए भारी जनसमूह उमड़ा। इससे पहले स्थानीय नेताओं ने रालोद की नीतियों और कार्यक्रमों पर प्रकाश डालते हुए पार्टी को मजबूती देने का आह्वान किया।  राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष प्रभात तोमर, पूर्व सांसद अमीर आलम खां, पूर्व मंत्री योगराज सिंह, पूर्व विधायक नूरसलीम राणा, पूर्व विधायक नवाजिश आलम खान, रालोद के प्रदेश प्रवक्ता कमल गौतम, पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक चौधरी, पूर्व विधायक राजेन्द्र शर्मा, जिला पंचायत की पूर्व अध्यक्ष रमा नागर, पूर्व विधायक राजपाल बालियान, रालोद नेत्री पायल माहेश्वरी, श्रीराम तोमर, रंजनवीर सिंह, संदीप मलिक, नदीम चौधरी, हंसराज जावला, आदेश त्यागी, बालकिशोर त्यागी, पराग चौधरी, अंकित सहरावत आदि मौजूद रहे।

From around the web