मुज़फ्फरनगर- नवविवाहिता को जान से मारने का प्रयास, मरणावस्था में जंगल में छोड़ कर ससुरालिये हुए फरार

 
न



मोरना। विवाहिता को उसके मायके से लेकर रवाना हुए ससुरालियों ने गंगनहर पर विवाहिता के साथ मारपीट करते हुए जान से मारने का प्रयास किया और गंभीर रूप से घायल होने पर जंगल में फेंक कर फरार हो गये। इस घटना की सूचना मिलते ही परिजन मौके पर पहुंचे और घायल युवती को अस्पताल में भर्ती कराया। घटना के सम्बंध में पुलिस को भी सूचना दे दी गई है।
जानकारी के अनुसार भोपा थाना क्षेत्र के ग्राम करहेड़ा निवासी एक युवती आयुषी पुत्री विपिन मरणावस्था में जंगल में पड़ी मिली, जिसको पुलिस द्वारा ग्रामीणों की सूचना पर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। युवती के परिजनों ने बताया कि  24 मई 2021 को युवती की शादी गाजियाबाद में विकास नामक युवक से हुई थी। शादी में दहेज के रूप में परिजनों द्वारा अपनी हैसियत से ज्यादा खर्च किया गया था। शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग युवती से दहेज के रूप में 10 लाख रुपए की रकम मांगते चले आ रहे हैं, लेकिन विवाहिता के परिजनों के पास इतनी रकम नहीं है, जिसके चलते युवती एक सप्ताह पूर्व अपने परिजनों के पास आ गई थी, जिस पर युवती के परिजनों का आरोप है कि शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग विवाहिता को घर में बंधक रख बनाकर रखा हुआ था। परिजनों द्वारा बताया गया है कि युवती के पति व अन्य परिजन मुजफ्फरनगर के मीरांपुर  तहसील जानसठ के मूल निवासी है, जो अब गाजियाबाद में रह रहे हैं।

करीब एक सप्ताह पहले ससुराल पक्ष के लोग युवती को मीरापुर लेकर चले गए थे, जिसके चलते और ससुराल पक्ष के लोगों ने महिला की हत्या करने के इरादे से मीरापुर से धीराहेडी थाना भोपा के गांव में ले जाने के नाम से मीरापुर से चले थे कि रास्ते में तिस्सा राजवाहे पर लाकर युवती के साथ मारपीट की गई तथा उसके गले में फांसी का फंदा लगाकर उसके हत्या का प्रयास किया गया। परिजनों का आरोप है कि ससुराल पक्ष के लोग युवती को मरणावस्था में छोड़कर फरार हो गए राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला को अस्पताल में भर्ती कराया है। कार्यवाहक थाना प्रभारी राजकुमार राणा ने बताया कि तिस्सा राजवाहे पर एक युवती मिली है, जिसे पुलिस द्वारा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। महिला के गले पर निशान हैं, मामले की जानकारी की जा रही है।

From around the web