मुज़फ्फरनगर- मंसूरपुर पुलिस ने रेस्टोरेंट कर्मचारी के हत्यारों को मुठभेड में दबोचा, बाइक टकराने पर हुआ था विवाद

 
न

मुजफ्फरनगर। एसएसपी अभिषेक यादव के निर्देशन में थाना मंसूरपुर पुलिस को आज बडी सफलता मिली है। पुलिस ने तीन दिन पूर्व मंसूरपुर में रेस्टोरेंट कर्मचारी की गोली मारकर हत्या करने व उसके साथी को घायल करने वाले दोनों बदमाशों को मुठभेड में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस से मुठभेड में दोनों बदमाश टांग में गोली लगने से घायल हो गये। बदमाशों के कब्जे से तमंचे, कारतूस व बाइक भी बरामद की गई है।

जानकारी के अनुसार विगत 17 नवम्बर की रात्रि को थाना मंसूरपुर क्षेत्र में नेशनल हाईवे पर अज्ञात बदमाशों ने फायरिंग कर नमस्ते इंडिया रेस्टारेंट के कर्मचारी नरेश पुत्र कमलाकांत की हत्या कर दी थी, जबकि उसके साथी सुदर्शन पुत्र गोविंद को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। इस मामले में  मंसूरपुर थाने में गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया था और एसएसपी ने पुलिस टीम गठित कर तत्काल घटना के खुलासे  के निर्देश दिये थे। इसी बीच आज देर शाम थाना मंसूरपुर पुलिस को गश्त के दौरान पता चला कि हाईवे के निकट नावला कोठी से आगे कुछ बदमाश किसी बडी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे है। सूचना पर पुलिस ने उक्त स्थान को घेर लिया और बदमाशों को ललकारा, तो बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी, लेकिन पुलिस टीम ने साहस का परिचय देते हुए जवाबी फायरिंग की, जिसमें दोनों बदमाश पैर मेें गोली लगने से घायल हो गये। पुलिस टीम ने बदमाशों को दबोच लिया।

पूछताछ में बदमाशों ने अपने नाम वंश आनंद पुत्र सुभाषचंद निवासी सैनी नगर माल गोदाम रोड खतौली व रविश नवाज कुरैशी उर्फ नंदू पुत्र मौहम्मद दिलशाद निवासी गांव कवाल थाना जानसठ, हाल निवासी इस्लाम नगर खतौली बताया है। पुलिस टीम ने बदमाशों के कब्जे से दो तमंचे, सात जिंदा कारतूस व दो खोखे 315 बोर, एक बाइक नम्बर यूपी12एवाई-8184, जो घटना में प्रयुक्त की गई थी, बरामद की है। पूछताछ में दोनों बदमाशों ने बताया कि 17 नवम्बर की रात को उनकी बाइक मृतक नरेश से टकरा गई थी, जिस कारण नरेश से उनका झगडा हुआ था। झगडे के दौरान ही बीच बचाव कराने वाले सुदर्शन व नरेश को गोली मार दी गई थी, जिसमें नरेश की मौत हो गई थी, जबकि सुदर्शन घायल हो गया था। इस मामले में पुलिस टीम बदमाशों का आपराधिक इतिहास खंगालने में जुटी है।

From around the web