अब फिर हर रविवार को लगेगा स्वास्थ्य मेला

 
1

मुजफ्फरनगर। रविवार को अवकाश के दिन शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों को घर के आसपास एक ही स्थान पर जांच व उपचार की सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से अब 19 सितम्बर से हर रविवार मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला” का आयोजन किया जाएगा। पहले भी हर रविवार को स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया जाता थालेकिन कोविड संक्रमण काल में इसका आयोजन स्थगित कर दिया गया था। अब कोविड का प्रभाव लगभग खत्म हो चुका है ऐसे में फिर से सभी स्वास्थ्य सेवाएं बहाल हो गयी हैंइसी कड़ी में स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया जा रहा है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा. महावीर सिंह ने बताया- इस संबंध में अपर मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद की ओर से सूबे के सभी जिलाधिकारियों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश जारी किए गए हैं। शासन के निर्देश पर सभी शहरी और ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर सुबह दस बजे से सायं चार बजे तक हर रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का आयोजन होगा। 

उन्होंने बताया-जनपद के सभी नौ ब्लॉक की सीएचसी-पीएचसी पर स्वास्थ्य मेले का आयोजन किया जाएगा स्वास्थ्य मेले के दौरान आधारभूत पैथोलॉजिकल जांच के अलावा रैपिड डायग्नोस्टिक किट से जांच सुविधा उपलब्ध रहेगी। जांच के बाद गंभीर रोगियों को समुचित उपचार के लिए जिला चिकित्सालय में रेफर किया जाएगा और उन्हें जरूरत के अनुसार निशुल्क राजकीय एंबुलेंस सेवा उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाएगा।

उन्होंने बताया-शासन से मिले निर्देशों के मुताबिक रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेला में डयूटी करने वाले चिकित्सकों को शनिवार को और फार्मासिस्ट को शुक्रवार को साप्ताहिक अवकाश मिल सकेगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी अपने स्तर से अन्य स्टाफ के साप्ताहिक अवकाश की प्रतिपूर्ति  शुक्रवार और शनिवार को कर सकेंगे। स्वास्थ्य मेले में कोविड प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

 मेले के प्रवेश द्वार पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए केवल मॉस्क पहने व्यक्तियों को स्क्रीनिंग के बाद ही प्रवेश मिलेगा। मॉस्क के स्थान पर गमछे और दुपट्टे का प्रयोग भी अनुमन्य होगा। मेला स्थल पर एक पृथक कोविड हेल्प डेस्क भी स्थापित होगी। हैंड सेनेटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना ‌‌अनिवार्य होगा।

आरोग्य मेले के दौरान आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों को आयुष्मान (गोल्डन) कार्ड बनवाने की सुविधा प्रदान की जाएगी और साथ ही रोस्टर के आधार स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की जानकारी के लिए स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारियों और ब्लॉक कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर की डयूटी लगाई जाएगी। आरोग्य स्वास्थ्य मेला के दौरान आयुष विभाग और आईएमए से समन्यवय कर निजी चिकित्सकों की भी सेवाएं ली जाएंगी।

From around the web